दुआओं में माँगा था उसे ज़िन्दगी ने नज़र ए इनायत कर दी urdu dard quotes in hindi,

0
316
दुआओं में माँगा था उसे ज़िन्दगी ने नज़र ए इनायत कर दी urdu dard quotes in hindi,
दुआओं में माँगा था उसे ज़िन्दगी ने नज़र ए इनायत कर दी urdu dard quotes in hindi,

दुआओं में माँगा था उसे ज़िन्दगी ने नज़र ए इनायत कर दी urdu dard quotes in hindi,

दुआओं में माँगा था उसे ज़िन्दगी ने नज़र ए इनायत कर दी ,

धड़कनों में रवाँ रवाँ है वो लबों पर मोहब्बत ए तिश्नगी लिख दी ।

 

वो तक़दीर में ही नहीं था ,

गोया उसको पाने की जद्दोज़हद खुदा से ज़ोर आज़माइश आज भी है ।

 

सज़दे में हाँथ उठे दुआ भी क़बूल हुयी ,

गोया इब्न ए इंसान की बरक़त में खुदा की रहमत कैसे बेफज़ूल हुयी ।

 

जान की बख्शीस की कोशिशें दम बा दम अब भी ज़ारी है ,

माबदौलत मल्लिका ए हुश्न के दरबार में इश्क़ ए रहमत बरस जाए यही बस ख़्याल ए यारी है ।

 

दुआ आसमान में चली जाती है , जिस्म मिटटी में मिल जाता है ,

दरूं ए इश्क़ जहां में क्यों इंसान पुरसकूत नहीं पाता है ।

emotional love story in hindi,

तुझसे इश्क़ करके मैं अपने शहर में ग़ुमनाम हुआ जाता हूँ ,

क्या तेरे कूचे में ख़ाक ए वजूद की निशानी मिली है मेरी ।

 

किसी को मिलती नहीं किसी से सम्हाली नहीं जाती ,

बस एक उम्र की पूँजी अपनी ख़ुशी से खर्च की नहीं जाती ।

 

दिल ए नाचीज़ हथेली पे सजा के ले आये ,

खबर कहाँ है उन्हें जश्न ए महफ़िल में बस चाँद तारों के तलबग़ार सभी ।

 

इश्क़ फशाना है हक़ीक़त का यहाँ कुछ भी नहीं ,

हर शख्स दीवाना है मगर किसी की मोहब्त क़ामिल किसी को मंज़ूर नहीं ।

 

सुरु किया था सफ़र मंज़िलों का रहनुमा बनकर ,

यूँ घिरा हादसों में बस रह गया तन्हा होकर ।

 

नज़ाक़तों की दरूं ए इश्क़ जितनी दखल होती रही ,

चिलमन की ओट से भी हुश्न ओ इश्क़ की उतनी ही शरारतें होती रही ।

 

लब रहे खामोश दास्तान ए इश्क़ थी अनकही ,

दरमियाँ दिलों के बस हवाओं की दखल रही ।

 

क़ासिद ही बताये हमें हाल ए पयाम हमारा ,

हम उनके इश्क़ में कैसे कितना ज़ार ज़ार हुए ।

good morning quotes in hindi ,

इश्क़ की इबारतों को समझने में उम्र ए गुज़ार दी हमने ,

गोया अब उम्र के इस दौर में वो कह रहे हैं की क्या नज़रों का तग़ाफ़ुल भी कुछ समझते हो ।

urdu dard quotes in hindi video

pix taken by google ,