प्योसरी बनाने की विधि indian recipes ,

0
1331
pyosari recipe
pyosari recipe

प्योसरी बनाने की विधि indian recipes ,

विंध्य के खान पान का अपना एक स्थान है , इसी श्रंखला में आइये सीखते हैं प्योसरी बनाना ,इसे तेली भी कहते हैं ,

दोस्तों आज हम बघेलखंड का प्रमुख व्यंजन प्योसरी बनाना सीखेंगे , ये गाय या भैंस के उस दूध से बनाया जाना वाला

व्यंजन है जो प्रजनन के बाद दो से तीन दिन तक निकलता है , प्योसरी बनाना थोड़ा कठिन जरूर है मगर नामुमकिन

नहीं है ,प्योसरी आप गुड़ और शक्कर दोनों तरह की बना सकते हैं , हम यहां गुड़ वाली प्योसरी बना रहे हैं , तो आइये

दोस्तों सीखते हैं प्योसरी कैसे बनाये , इसके लिए आवश्यक सामग्री इस तरह है ।

 

प्योसरी बनाने के लिए आवश्यक सामग्री ,

 

गाय या भैस का दूध १ पाव ( प्रजनन के २ से ३ दिन तक का दूध ),

गाय या भैंस का दूध १ किलो ग्राम ,

१०० ग्राम गुड़ ,

१ छोटा चम्मच पीसी हुयी सोंठ ,

आधा छोटा चम्मच पिसा हुआ इलाइची पाउडर ,

१० ग्राम काजू , १० ग्राम चार चिरोंजी ,

प्योसरी बनाने की विधि ,

 

सर्वप्रथम इक पाव प्रजननं के २ से दिन दिन बाद वाले गाय या भैंस के दूध में १ किलोग्राम सदा दूध मिला लीजिये ,

इसके बाद १०० ग्राम गुड़ को अच्छे से बारीक कूट कर दूध में मिला दीजिये , और बारीक पीसी हुयी सोंठ का पाउडर भी

छोटा आधा चम्मच मिला दीजिये , इसके बाद सारे मिश्रण को अच्छे से घोलकर छन्नी से छान लीजिये , अब कड़ाही में

एक गिलास पानी डालकर एक जाली रख दीजिये , अब एक डोंगे या गंजी में दूध के मिश्रण को इस जाली के ऊपर रख

दीजिये , अब मद्धम आंच में इसे गरम करिये , जब दूध हलक गरम हो जाये तो आंच बिलकुल धीमी कर दीजिये , इसके

बाद इसे बांस की टोकनी से ढँक दीजिये , अब १० से १५ मिनिट बाद , एक छोटी सी लकड़ी की सीक की सहायता दूध पर

गड़ा कर देखिये जहां पर लकड़ी की सीक अपने दम पर खड़ी रह जाए वहाँ की प्योसरी पक गयी इस तरह पूरे दूध पर

सीक गड़ा गड़ा का प्योसरी को जांच लीजिये की पकी या नहीं , अब अगर पूरे प्योसरी में सीख खड़ी हो रही है तो गैस बंद

कर दीजिये , और इसके ऊपर छोटा चम्मच इलाइची पाउडर डाल दीजिये , और इसे अलग रख दीजिये , अब एक दूसरी

कड़ाही के १छोटा चम्मच घी डालकर काजू , चार चिरोंजी को धीमी आंच में गोल्डन ब्राउन होने तक भूजिये , और इसे

प्योसरी के ऊपर सजा दीजिये , इसे चलना नहीं है , अब इसे ठंडा करके फ्रिज में रख दीजिये , और इसे फिर आराम से

चक्कू से काटकर खाते रहिये ।

आलू के पापड़ बनाने की विधि ,