बर्बाद ए मोहब्बत का तमाशाई था ज़माना सारा quotes life hindi ,

0
627
बर्बाद ए मोहब्बत का तमाशाई था ज़माना सारा quotes life hindi ,
बर्बाद ए मोहब्बत का तमाशाई था ज़माना सारा quotes life hindi ,

बर्बाद ए मोहब्बत का तमाशाई था ज़माना सारा quotes life hindi ,

बर्बाद ए मोहब्बत का तमाशाई था ज़माना सारा ,

और हम अश्क़ों के तल्ख़ ज़ाम हँस हँस के पीते रहे ।

 

राह ए उल्फत में जब गुफ़्तगू ए इश्क़ तल्खियों में हो ,

जायज़ है दोनों के हक़ में अलविदा कहना ।

 bewafa shayari

तल्ख़ रंगों से तस्वीर मैं बनाता हूँ जब भी ,
तेरा नक़्श हर अक़्स ए आईन उतर आता है।

 

नज़र की कनखियों पर लटकता चाँद ,

रात के सन्नाटे में बड़ा तल्ख़ तल्ख़ लगता है।

 

कितना ख़तरनाक है आज का आदम ए खुल्द,

गुज़रे ज़माने का बेज़बान भी दिल में रंजिश नहीं रखता ।

 

रंजिशें तो अब पूरी होंगी जब बर्बादियों का हर मंज़र तुम्हारा होगा ,

तमाशाई भी हम होंगे और तमाशा भी हमारा होगा ।

 

खुद में सिमट रही थी कली कली इस तरह ,

सुर्ख लबों पर दबा रखी हो सैकड़ों रंजिशें जिस तरह ।

 

टूटे बिखरे पड़े थे कितने गली के नुक्कड़ में ,

जाने किन सोख निगाहों ने दिलों को तोड़ा था ।

 

फिर वही रात की तल्खी ग़म और तन्हाई ,

खिज़ा के मौसम में बाग़ों में बहार कहाँ ।

 

इश्क़ ने तुझको क्या बदनाम किया ,

असली चोट तो हम जिगर पर खाये राह ए मुफलिस में बर्बाद होकर ।

 

शाम होते ही छेड़ देते हो अफ़साना दिल का ,

फिर सारी रात तल्खियों में बीत जाती है ।

 

इश्क़ बदनाम किया लाख सही ,

अख़बार की सुर्ख़ियों में तो छपते हैं इश्तिहार ए मोहब्बत हर दिन

 

मेरी वीरान रातों में तेरी बस यादों का ठिकाना है ,

दिल ए नसाद को आबाद करना तो बस बहाना है ।

 

हर रोज़ शाम ए बज़्म में सुख़नवर हो ज़रूरी तो नहीं ,

इश्क़ के हिस्से में तल्खियाँ भी होती हैं ।

 

दिल में जब दर्द उठा था ही नहीं ,

किसे कह दूँ की तुझे मुझसे इश्क़ था की नहीं ।

 

इश्क़ ने मज़बूर किया था ग़ालिब,

वरना कौन साद ओ ग़म का ज़ौक़ रखता है ।

story for kids in hindi,

इश्क़ के मारे हैं ग़ालिब ,

नरम लहजों को भी तल्खी ही समझ लेते हैं ।

pix taken by google