ज़मीन ए ज़र्द थीं खूँ से लथपथ valentine day quotes ,

1
495
ज़मीन ए ज़र्द थीं खूँ से लथपथ valentine day quotes ,
ज़मीन ए ज़र्द थीं खूँ से लथपथ valentine day quotes ,

ज़मीन ए ज़र्द थीं खूँ से लथपथ valentine day quotes,

ज़मीन ए ज़र्द थीं खूँ से लथपथ ,

जबीन ए ख़ाक थे अपने मैं खुद की मौत से डर कर नींद भर सोया नहीं ।

 

दर्द तेरे छालों के भी कम न थे ,

ज़ख्म जब खुद की रूह ने खाया तो तेरा ख़्याल आया ।

 

वादा करके मुकर जाना तो साहेब की अदा है ,

फिर भी कर रहे हैं ऐतबार दिल ओ जान से क्यों की हम उनपर फ़िदा हैं ।

 

मर गए इश्क़ ए तोहमत में उफ़ आह करने वाले ,

बड़े बड़े तक़दीर वालों की किस्मत में हम जैसे पहलवान निकलते हैं ।

 

थोड़ी सी गैरत जो बची हो इंसानियत के वास्ते ,

तो रोक क़त्ल ए आम आदम का आदम के नाम पे ।

romantic shayari 

आप हमको हमारी निगाहों में ढूढते क्यों हैं ,

जब हमारा खुद में कोई रता पता ही नहीं ।

 

यूँ ना हमारी नज़रों में झाँक तांक करो ,

गोया जो निकल पड़ी ग़ज़ल शब् ए बज़्म में हर नज़्म बदनाम हो जाएगी

 

यूँ तो हर माहौल के सुख़नवर बहुत अच्छे होंगे ,

मगर मेरी ख़ुशी और गम के लिए तंज़ भी बहुत कम होंगे ।

 

ये लब सूखे नहीं प्यास इनमे बाकी है ,

सर्द हवाओं तेज़ चलो थोड़ा और शबनम चश्म ए हरम में भर लूँ ।

 

मत पूछ मेरा हाल तेरे जैसा है ,

क्या तेरा भी हाल एक सवाल जैसा है ।

whatsapp status

दिल के छाले हैं सरगोशियों से फूट पड़ते हैं ,

मोहब्बत भरी रातों में इन्हें ख़ामोशी से दबाया न करो ।

 

ऐसा भी क्या अज़ाब ऐसी भी क्या रंजिश ,

करीना ए दामन थे गुलपोश से बच्चे

 

लम्स बनके धड़कता है फिर भी सीने में ,

गोया वो आज अपना होता दो बात कहकर उसको चैन से जी लेते

 

फुर्सत मिले ज़माने की मौजों से फुरक़त करके ,

सोच लेना गम ए क़ुरबत में कोई अपना भी रहा होगा ।

pix taken by google