horror website a short horror story ,

0
2261
horror website a short horror story ,
horror website a short horror story ,

horror website a short horror story ,

दरवाज़ा बंद है , बाथरूम में अंदर बेख़ौफ़ रवि शॉवर से टपक रही बूंदों के बीच खड़ा एक अनजाने खौफ से बेखबर , तभी

नल के टैप से एक अदृश्य खौफनाक हाँथ निकलता है , और रवि के सीने में धंस जाता है , और रवि के जिस्म से खून से

लथपथ दिल का लोथड़ा नोचता हुआ पुनः नल के टैप में समां जाता है , ये सब देखकर रवि हैरान रह जाता है की आखिर

हुआ क्या , और एक झटके में रवि का बेजान जिस्म बाथरूम की फर्श पर धड़ाम से गिर जाता है , और शॉवर से पानी

उसके जिस्म पर लगातार गिर रहा है ,

cut to ,

रात के तक़रीबन १२ बजे का टाइम फ्लैट के हाल में रवि का फोन एक दो तीन नहीं लगातार बज रहा है , तभी रवि के

बाथ रूम का दरवाज़ा खुलता है , जिस्म पर टॉवल लपेटता रवि हॉल में आता है , फोन उठाता है , फोन रवी की गर्ल फ्रेंड

संध्या का था , संध्या ने पूछा हेलो सब ठीक है न तुम ने फोन क्यों नहीं उठाया कब से कॉल कर रही थी , सो रहे थे क्या

, अच्छा खाना खा लेना रवि ओके , बोलकर फोन काट देता है , रवी कपडे पहन रहा है , तभी संध्या का एक बार पुनः

फोन बजता है , रवी फोन फिर उठाता है , संध्या बोलती है लव यू बेबी गुड नाईट स्वीट ड्रीम्स बाय मुवाह , कहकर फोन

काट देती है , रवी बैक उठाकर सीधा निकल जाता है , मुंबई के उस पब में जहां सारे डेविल्स ड्रग्स के नशे और डांस

फ्लोर पर थिरकती लड़कियों के जिस्म की नुमाइश देखने के लिए आते हैं ,

पब में बैठा रवी वोडका के दो शॉट लगाया ही था , की बाजू में बैठी लड़की जो पहले से ही पी रही थी रवी को स्माइल देती

हुयी बोलती है , हाय हैंडसम दोनों में थोड़ा बहुत नार्मल बात चीत होती है , इसके बाद रवी उस लड़की को लेकर पब के

बाहर निकल जाता है ।

bhoot ko kahani , 

जुहू बांद्रा की सूनसान गलियों से होती , हुयी रवी की बाइक एक फ्लैट की बिल्डिंग के सामने रूकती है , रवी उस लड़की

को वही ड्राप करता है और बाइक मोड़ता ही है , की लड़की बोलती है जिसका नाम लिली है , इतनी जल्दी भी क्या है जब

यहां तक आ ही गए हो तो ,मुझे फ्लैट तक छोड़ दो प्लीज़ मैं अपने आप अपने रूम तक नहीं जा सकती , रवी उस लड़की

के फ्लैट पर जाता है , उसके फ्लैट की चावी लेकर दरवाज़ा खोलता है , लड़की (लिली) पूरी तरह नशे की गिरफ्त में है ,

रवी लिली को छोड़कर निकलने वाला ही होता है , की तभी लिली रवी का हाँथ पकड़ लेती है , और बोलती है आप हमारे

गरीब खाने में तसरीफ लाये हैं जनाब हमें भी कुछ खातिर दारी का मौका दीजिये , और सामने रखी वोडका की बोतल

और दो ग्लास लती है , और फ्रिज से आइस क्यूब निकालती है , और रवी के सामने रख देती है और रवी की आँखों में

आँखें डालकर नशीले अंदाज़ में बोलती है जस्ट २ मिनिट डिअर , अभी चेंज करके आती हूँ , और अंदर के रूम में चली

जाती है ,

cut to ,

घडी में रात के २ बजने वाले हैं रवी गिलास में वोडका डालकर पेग बनाने ही जा रहा होता है , की रवी के व्हाट्सप्प पर

मेसेज आता है , योर रजिस्ट्रशन इज सक्सेसफुल मोबाइल उठाता हुआ , ऑन अवर हॉरर साइट , कीप एन्जॉय लॉट्स

ऑफ़ रियल हॉरर एडवेंचर्स ऑन दिस साइट , और नीचे यूजर आई . डी .और पासवर्ड दिया रहता है , रवी साइट में उस

आई . डी . और पासवर्ड डालकर साइन करता है , तभी वेलकम इन गेस्ट ब्लोगिंग का पेज खुलता है और , और मोबाइल

का कैमरा अपने आप ऑन हो जाता है , और रवी एक डेविल का रूप धारण करने लग जाता है , तभी लिली ड्राइंग रूम में

इण्टर होती है , वो रवी का ये रूप देखकर आवाक रह जाती है , वो दरवाज़े की तरफ भागती है , दरवाज़ा खोलकर एक

कदम बाहर रखती ही है की डेविल बना रवी उसे फ्लैट के अंदर खींच लेता है , और अपने नुकीले दांत लिली की गर्दन में

गड़ा कर सारा जिस्म का एक एक बूँद खून पी लेता है । और लिली का बेजान जिस्म वहीँ पर फेंक कर निकल जाता है ।

और रूम से निकल जाता है ।

 

cut to , camera zoom in bed room ,

बेड पर रवी गहरी नींद में सो रहा है , रवी का फोन बजता है संध्या फोन पर फोन किये जा रही है , रवी फोन काट देता है

, संध्या फिर फोन करती है रवी इस बार फोन उठा लेता है , संध्या बोलती है गुड आफ्टर नून हनी कितने देर तक सोते

हो तुम , रात भर किसी और के साथ थे क्या , चलो उठो भी मैं शाम को मिलती हूँ तुमको लव यू मुवाह करती फोन काट

देती है , रवी एक बार फिर सो जाता है ।

cut to ,

शाम के ६ बजने वाले हैं संध्या रवी का दरवाज़ा खटखटाती है , कुछ देर बाद रवी घर का दरवाज़ा खोलता है , संध्या रवी

से बोलती है ओये हेलो , मुझे देखकर तुम्हे ख़ुशी नहीं हुयी , तुम फिर से सो गए थे क्या ओह गॉड तुम्हारा कुछ नहीं हो

सकता , जल्दी फ्रेश हो मैं यही वेट करती हूँ रवी बाथरूम में घुस जाता है , इधर हॉल में बैठी संध्या की नज़र रवी के

लैपटॉप पर पड़ती है , वो लैपटॉप ऑन करती है, गूगल क्रोम खोलती है , तभी उसकी नज़र सर्च हिस्ट्री पर पड़ती है जहां

टॉप हॉरर साइट्स के लिंक डले होते हैं , संध्या एक हॉरर साइट को खोलती है , कुछ ट्रू घोस्ट हॉरर वीडिओज़ डले होते हैं

, वो एक हॉरर वीडियो पर क्लिक करती है और उसमे एक लाइव घोस्ट दिखा जाता है जो कब्रिस्तान में दबी लाशों को

निकाल कर उनका खून पी रहा था , इतना भयानक दृश्य देखकर संध्या डर जाती है , तभी रवी तैयार होकर आजाता है ,

संध्या लैपटॉप बंद कर देती है और रवी के गले से लिपट कर उसे किश करती और दोनों घूमने के लिए फ्लैट के बाहर

निकल जाते हैं ।

 

cut to coffee shop,

कॉफी शॉप पर संध्या और रवी बैठे हुए हैं , संध्या बात पर बात किये जा रही है , मगर रवी का कुछ ख़ास रिएक्शन नहीं

होता है , वो संध्या की बाते बस सुन रहा था , दोनों कुछ शॉपिंग करते हैं और वहाँ से निकल जाते हैं , रात के १० बज

चुके हैं संध्या रवी को उसके फ्लैट के नीचे ड्राप करती है और वहाँ से निकल जाती है , रवी अपने फ्लैट का दरवाज़ा

खोलता है , अंदर आता है , वो लैपटॉप ऑन करता है और उस हॉरर वेबसाइट में लॉग इन करता है जिस पर वो गेस्ट

ब्लॉग्गिंग के लिए अप्लाई किया था , तभी स्क्रीन पर मेसेज आता है , कॉन्ग्रैचुलेशन मिस्टर डेविल ३०९८ आपका गेस्ट

पोस्ट सक्सेस फुल पब्लिश्ड कर दिया गया है , और डायरेक्ट डेविल३०९८ (रवी) का यूज़रनेम , वाला पेज खुल जाता है ,

रवी का बीती रात वाला वीडियो चलने लगता है , डेविल बना रवी लिली का खून पीता है ये देखकर रवी की आखें ख़ुशी से

चमक जाती हैं ,अपने आपको खून पीता देख रवी बहुत खुश होता है , वो टी. वी. पर न्यूज़ ऑन करता है दिन भर की

ख़ास खबर में लिली की मौत का समाचार ब्रैकिंग न्यूज़ में चल रहा था , एंकर बोल रही थी , लिली नाम की इस लड़की

की मौत कैसे हुयी या एक राज़ की बात है उसके गर्दन में किसी जानवर के नुकीले दांतों के निशान मिले हैं जिससे ये कह

पाना मुश्किल होकर है की मुंबई के इस भीड़ भाड़ वाले इलाके में आखिर वो खूंखार जानवर आया कहाँ से , ये देखकर रवी

के दिमाग में फिर एक बार खून पीने की प्यास जाग जाती है, तभी वेबसाइट पर गेस्ट ब्लॉगर के लिए नई अपडेट शो

होती है , नयी लोकेशन पर सभी नए मेम्बर्स को इन्वाइट किया जाता है । डेविल बना रवी अगले शिकार के लिए निकल

जाता है ।

cut to ,

 

बॉम्बे कुर्ला सी लिंक से करीब तीन किलोमीटर की दूरी पर एक विशाल शिप जिस पर तमाम हॉरर वेबसाइट के गेस्ट

ब्लोग्गेर्स को इन्वाइट किया गया है, सभी एक एक करके पहुंच रहे हैं , कोई अपनी परशनल शिप से तो पानी पर चलने

वाली बाइक से तो आसमानी चमगादड़ों पर सवार होकर आज यहां दुनिया भर के एक से एक महान रियल घोस्ट बने

गेस्ट ब्लॉगर पहुंच रहे हैं , चाइना से आया गेस्ट ब्लॉगर अपने ड्रैगन के लिए घोस्ट शिप पर पर्याप्त जगह न पाकर शिप

के दो चक्कर मारता है सीधा शिप पर आसमान से जम्प मारता है, और सीधा स्टेज पर पर उतरता है,

सभी डेविल घोस्ट प्रेत पिशाच उसे देखकर कर दंग रह जाते हैं , बफर के लिए टेऊंचाइयों बल पर ट्रे पर साबुत सूअर ,

गाय , भैंस , बकरे और इंसानी ब्लड के शूप से भरे बर्तन सामने सजे रखे हैं , और हॉरर वेबसाइट के ओनर के गेस्ट

लेक्चर के बाद सभी दावत का लुत्फ़ उठाने लगते हैं , इधर रवी शहर की गलियों पर अंधेरों को चीरता अपनी बाइक पर

आगे बढ़ रहा है , तभी उसके सामने पुलिस की वैन दिखाई देती है जिसमे ५० से ज़्यादा क़ैदियों को कोर्ट की पेशी के बाद

यरवदा जेल में शिफ्ट करने के लिए ले जाया जा रहा था , रवी उड़कर उस वैन को हाईजैक कर लेता है , और वैन में

सवांर ड्राइवर को लात मारकर वैन के बाहर फैंक देता है , और वैन को आसमान की ऊंचाइयों में ले जाकर कहीं बादलों में

गुम हो जाता है , इधर हाईजैक हुयी वैन की खबर ड्राइवर के द्वारा मुंबई पुलिस हेडक्वार्टर को पहुंचाई जाती , पुलिस

कण्ट्रोल रूम द्वारा वैन में लगा जीपीएस ट्रेस करने पर लोकेसन बांद्रा कुर्ला सी लिंक के आस पास की दिखाई देती है जो

कुछ देर में दिखानी बंद हो जाती है , पुलिस के बोट्स उस लोकेशन पर भेजे जाते हैं मगर वहाँ कोई वैन नहीं मिलती है ,

इधर घोस्ट शिप पर रवी की एंट्री होती है , रवी के साथ सबके लिए ज़िंदा इंसानी खून रवी को टॉप हॉरर गेस्ट ब्लॉगर

बना देता है, उसे अवार्डेड किया जाता है , इधर मुंबई की पुलिस लिली की मौत की गुत्थी सुलझा भी न पायी थी , की

इतने सारे क़ैदियों का एक साथ ग़ायब हो जाना भी रहश्य बना हुआ थी ,बात होम मिनिस्टर तक पहुंच चुकी थी, मुंबई

पुलिस पूरी तरह से दबाव में थी , जिसका जवाब देने में पुलिस असमर्थ थी ।

 

cut to ,

बार बार संध्या रवी का फोन ट्राय कर रही थी मगर वो अनरीचबल बता रहा था , रात से सुबह हो चुकी थी संध्या ने सुबह

एक बार फिर रवी को फोन लगाया दो चार बार की कालिंग के बाद आखिरकार रवी ने फोन उठा लिया , संध्या ने है हेलो

नहीं किया वो रवी को झाड़ती हुयी बोली , क्या नाटक लगा रखा है तुमने रात भर घोड़े बेंचकर सोते हो क्या कब से फोन

ट्राय कर रही थी ,कितना परेशान थी मैं और फोन काट देती है , तभी न्यूज़ चैनल पर लिली की मौत की खबर चल रही

थी, जिसमे सी. सी. टी. वी . फुटेज में रवी की शक्ल का कोई शख्स आखिरी टाइम लिली के साथ पाया गया था , संध्या

रवी को पहचान जाती है उसका माथा ठनकता है , वो सीधा रवी के फ्लैट में जा धमकती है , रवी के फ्लैट की एक और

चावी संध्या के पास भी रहती है , वो रवी के फ्लैट में इण्टर होती है , सारे घर की तलासी लेती है , मगर उसे कुछ ख़ास

सबूत नहीं मिलते जिससे रवी के गुनाह की पुष्टि हो पाए , फिर उसकी नज़र लैपटॉप पर पड़ती है जिसे रवी रात में चलाते

समय शट डाउन करना भूल गया था , वो लैपटॉप को फिर से चालू करती है , जिसमे हॉरर वेबसाइट तुरंत खुल जाती है ,

और और रवी का गेस्ट इवेंट वाला हॉरर वीडियो चलने लगता है , इसके बाद वो लिली के मर्डर वाला वीडियो भी देखती है,

ये सब देखकर वो सन्न रह जाती है उसका दिमाग काम करना बंद कर देता है , वो दोनों वीडियो को डोनलोड कर अपने

मोबाइल में डालती है , और वहाँ से निकलने वाली ही होती है की तभी रवी आ जाता है ।

संध्या को देखकर रवि का कुछ ख़ास रिएक्शन नहीं होता , वो कुछ नहीं बोलता , संध्या ही बोल पड़ती है बहुत देर से

फोन ट्राय कर रही थी , जब नहीं लगा तो सीधा चली आई तुम्हारे पास , और तभी रवि अपनी बाहें फैलाये हुए संध्या की

तरफ खौफनाक अंदाज़ से देखता है संध्या डर जाती है , रवी संध्या को अपनी बाहों में भर लेता है , ताज़ा शिकार उसकी

बाहों में था वो धीरे धीरे डेविल का रूप धारण कर ही रहा था की , संध्या का फोन बज जाता है , और रवी की बाहों का

कसाव संध्या के जिस्म पर ढीला पड़ने लग जाता है , तभी एक झटके से संध्या रवी से दूर हट जाती है , संध्या फोन

उठाती है , हाँ माँ अभी आई बस १० मिनिट और रवी को एक्सक्यूज़ मी बोलती वहाँ से निकल जाती है ,

हाईवे पर संध्या की कार दौड़ रही है , वहाँ से निकलते ही संध्या वो दोनों वीडिओज़ पुलिस को फॉरवर्ड कर देती है , उधर

रवी रूम में रखे लैपटॉप की कंडीशन से समझ जाता है ,की संध्या को सब कुछ पता चल चूका है , तभी संध्या की कार के

बोनट पर न जाने कहाँ से रवी आधमकता है , संध्या की कार हड़बड़ाहट में इलेक्ट्रिक पोल से जाकर भिड़ जाती है , दूसरे

ही पल रवी संध्या को कार से बाहर खींचता हुआ बोलता है आखिर तुम्हे ये सब पता चल ही गया , संध्या की हड़बड़ाहट

में ज़बान लड़खड़ा रही है , वो पूछती है क्या सब , रवी बोलता है वही सब जो तुम्हे पता नहीं चलना चाहिए था , तभी

आसमान पर हॉरर वेबसाइट के डेविल्स की टीम पहुंच जाती है जो डेविल बने रवी द्वारा संध्या के मर्डर का लाइव वीडियो

शूट करने के लिए आये हुए थे , रवी संध्या की आँखों में आँखे डालता है डेविल बने रवी की आँखों में आग के शोले धधक

रहे हैं वो चाहता तो संध्या को एक झटके में ख़त्म कर सकता था ,

 

तभी वीडियो शूट कर रहे डेविल्स रवी को आवाज़ देते हैं और बोलते हैं कम ऑन रवी ज़ल्दी करों, रवी भयानक खूंखार

फेस बनाता हुआ उनकी तरफ देखता है वो संध्या की तरफ फेस करता ही है की मुंबई पुलिस फ़ोर्स वहाँ पहुंच जाती है ,

और डेविल्स पर ताबड़तोड़ फायरिंग करती है , रवी और उसके डेविल साथी संध्या को वहीँ पर छोड़कर वहाँ से भाग जाते

है , पुलिस की गोली किसी को भी टच तक नहीं कर पाती है ,

इधर संध्या पुलिस को स्टेप बाय स्टेप सब कुछ बता देती है , पुलिस के सामने सारा केस क्लियर हो जाता है , सारी

जानकारी होममिनिस्ट्री तक पहुंचाई जताई है , सारा का सारा मंत्रिमंडल इस बात को लेकर चिंतित है आधी रात को

मंत्रियों की मीटिंग बुलवाई जाती है , मंत्री कुछ निर्णय लेते मगर समस्या सबसे बड़ी ये है की इस बार मुकाबला इंसानो से

नहीं डेविल्स से है जिन्हे बन्दूक की गोलियों के द्वारा ख़त्म नहीं किया जा सकता था । और साइबर के उस क्राइम से था,

जिसे इंडिया में बैन तो किए जा सकता था मगर उसे ख़त्म नहीं किया जा सकता था ।

सबने निर्णय लिया की इसके लिए सभी धार्मिक गुरुओं से राय ली जाए और आई , टी . सेक्टर . से संपर्क किया जाए ,

क्यों की अब ये बात नार्मल साइबर क्राइम से ऊपर की थी , और इसे रोक पाना किसी के बस की बात नहीं थी ।

सभी धार्मिक गुरुओं द्वारा अपने अपने धर्म के अनुसार सैतान को ख़त्म करने के लिए तरह तरह के हथियार बनाये ,

जिनमे कुछ कवच कुछ दुष्ट आत्माओं को बांधने के लिए तंत्र मन्त्र युक्त ताम्बे और चांदी के तार थे , वृहद पैमाने में

पवित्र जल का भी निर्माण किया गया ताकि डेविल्स को ख़त्म किया जा सके ।

urdu shayari in hindi , 

cut to ,

बांद्रा कुर्ला सी लिंक का वो इलाका जो उस घटना के बाद प्रतिबंधित कर दिया गया था , एक बार फिर इलाके के राडार

और सेटेलाइट के सिग्नल कुछ पर कुछ ऐसी हलचल कैच करते हैं जो की अविश्वसनीय थी । पुलिस हेड क्वार्टर में अलार्म

बज जाता है कण्ट्रोल रूम से टीम घटना स्थल के लिए रवाना कर दी जाती है , मगर वहाँ ऐसी कोई भी आपत्तिजनक

घटना घटित होती दिखती नहीं है , उन्हें सब कुछ नॉर्मल ही लगता है ।

इधर घोस्ट शिप पर ऐसा कुछ होने वाला है जो साइबर जगत में न किसी ने देखा न सुना होगा , जितने गवर्नमेंट के आई

. टी . सेल के कर्मचारी थे वो खुद हॉरर वेबसाइट के ट्रैप में फंस चुके थे , धीरे धीरे वो भी अपना रूप बदलने लग गए थे ,

और बांद्रा कुर्ला सी लिंक के ऊपर से उड़ते हुए घोस्ट शिप पर पहुंच रहे थे , जिन्हे कण्ट्रोल कर पाना अब किसी के भी बस

की बात नहीं थी , इधर घोस्ट शिप पर तमाम डेविल्स के लिए एक सुनहरा अवसर प्रदान किया जा रहा था , की आप

ज़्यादा से ज़्यादा अपने हॉरर वीडिओज़ डालें और इंटरनेट की में डेविल्स की दुनिया के बेताज बादशाह बनजायें , वो एक

एक करके सभी पुलिस और ऑफिसर्स को उठाना सुरु कर देते हैं , और उनकी निर्मम हत्या कर रक्तरंजित एक हॉरर

इतिहास की रचना करते हैं , हॉरर वेबसाइट का एडमिन उन्हें इस काम के लिए प्रोत्साहित कर रहा है , तभी धर्म गुरुओं

की टीम चारों तरफ से ताम्बे और चांदी की तार द्वारा उन स्थल को चारों तरफ से घेर लेते हैं , ये बात डेविल्स को

नागवारा गुज़रती है ,

 

उनकी अब अदृश्य होने की शक्तियां कम होने लगती हैं वो सबको दिखाई देने लगते हैं घोस्ट शिप का वो भयानक मंज़र

देखकर हर आदमी मौत के ख़ौफ़ से डर जाता है , पुलिस कमिश्नर डेविल्स की गिरफ्त में है , रवि पुलिस कमिश्नर को

मरने के लिए जैसे ही अपना हाँथ उसके सीने की तरफ बढ़ाता है , तभी प्लेन से घोस्ट शिप पर पवित्र जल की बर्षात

करवा दी जाती है , जिससे सभी डेविल्स एक एक करके उस पवित्र जल से जलने लगते हैं उनकी आत्माएं आस्मां की

और उड़ती उठने लगती हैं , कुछ प्लेन पर अटैक करने की नाकाम कोशिश करते हैं , और आख़िर कार वो भी मारे जाते हैं

, जब रवि के ऊपर प्लेन से पवित्र जल डाला जाता है तब उसकी निगाहें बस संध्या को ढूंढ रही होती है , आसमान में

उठते धुएं के साथ रवि का जिस्म भी ख़ाक हो जाता है , संध्या से ये सब नहीं देखा जाता , और वो मुँह दबा के पुलिस की

शिप में एक कोने में जाकर बैठ जाती है , इस तरह घोस्ट शिप के डेविल्स का अंत हो जाता है , और हॉरर वेबसाइट को

इंटरनेट के सर्च इंजिन से हमेशा के लिए हटा दिया जाता है ,

cut to ,

शहर के फ्लैट की लाइट देर रात तक जल रही है , कैमरा उस कमरे के अंदर जाता है , अंदर लैप टॉप एक नौजवान

नेटवर्किंग कर रहा था , तभी उसे स्क्रीन पर एक मेसेज आता है, कृपया कमज़ोर दिल वाले इस वेबसाइट पर लोग इन न

करें , और एडवेंचर के तलाश में ये शख्स वेबसाइट पर क्लिक कर ही देता है , फिर उसके साथ जो होता है उसकी

कल्पना आप कर सकते हैं ।

to be continue ….

horror story in hindi

pix taken by google

 

Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers