quotes on darkness in hindi ये ज़ौक़ ए आतिशी ही है ,

0
322
quotes on darkness in hindi ये ज़ौक़ ए आतिशी ही है ,
quotes on darkness in hindi ये ज़ौक़ ए आतिशी ही है ,

quotes on darkness in hindi ये ज़ौक़ ए आतिशी ही है ,

ये ज़ौक़ ए आतिशी ही है ,

जो तूफानों ओ तीरगी में भी दिलों के अरमान जलाये रखती है ।

 

चंद बूँदें प्यास लब की भी न बुझा पाईं ,

दिल के अंदर तो सूखा हुआ समंदर है ।

 

दर ओ दीवार पर सज़दे में सर झुकाये दिखता है हर कोई ,

तू गर ख़ुदा ए मोहब्बत है तो मौजूद ए हस्ती सा मिलता कभी क्यों नहीं ।

 

जो शामिल हैं कारवां ए मोहब्बत में उन्ही का हाल पूछो ,

जो निकले ही नहीं घरों से उन्हें चुप चाप सोने दो ।

asli bhoot ki kahani , 

बो रहे हैं जो नफ़रतों के फ़स्ल ए गुल उनको उखाड़िये ,

अब बुज़ुर्गियत पर दारोमदार है नश्ले सम्हालिए ।

 

ख़्वाबों की दुनिया भी तिलस्माती है ,

हकीकत ए रूदाद से सरोकार नहीं ।

 

लब से निकली जो सदा वो कहाँ फज़ूल हुयी ,

तेरे सज़दे में सर झुका मेरे मौला दुआ क़बूल हुयी ।

 

यूँ ही न हुआ हकीकत ए रूदाद ही कभी ,

ज़िन्दगी भर मोहब्बत का फ़लसफ़ा फ़लसफ़ा ए मोहब्बत ही रहा ।

 

ज़माने के कारोबार में थक के चूर हो गया ,

सबको लगा वो शख्स मग़रूर हो गया ।

 

अंजुमन में सुबह सुबह का मिजाज़ ताज़ा है ,

शबनमी रात में सबा ए गुल निखर के आई है ।

 

हमने साया समझ कर दरख्तों तले पनाह पायी थी ,

आस्मां की बिजलियों से ये भी देखा न गया ।

 

नज़रों के सामने से गुजरने का मौका तो देकर देखो ,

लोग दिल में भी आशियाना बना लेते हैं ।

 

उम्मीद ए वस्ल में गुज़र गयी उम्रें अपनी ,

बाद रुख़्सत के भी ईद आई गोया दीदा ए यार न हुआ ।

 

शब् ए बज़्म का हर रोज़ तमाशा ये हुआ ,

दिल बुझा कर महफ़िलों में तमाशा सा हुआ ।

 

कब तक छुपाये रखते रंग ए लहू गुलाल ,

जब अश्क़ों में उतर आये दिल में छुपे ग़म ए गुबार ।

quotes on darkness in hindi , 

यही रहा अंजाम ए इश्क़ का फ़लसफ़ा हरसू ,

रात चाँद तारों में कटी दिन महफ़िल ए रानाईयों में भी तन्हा रहा ।

pix taken by google ,