whats app status in hindi नुमाईश में बिठा रखे थे कुछ बूतनुमा अजीज़ ,

0
415
whats app status in hindi नुमाईश में बिठा रखे थे कुछ बूतनुमा अजीज़ ,
whats app status in hindi नुमाईश में बिठा रखे थे कुछ बूतनुमा अजीज़ ,

whats app status in hindi नुमाईश में बिठा रखे थे कुछ बूतनुमा अजीज़ ,

नुमाईश में बिठा रखे थे कुछ बूतनुमा अजीज़ ,

मिलने लगी नज़र तो हर दिल अजीज़ हो गए

 

मोहब्बतों के दरमियान न हो गर लफ्ज़ मेरे ,

तू जो कहे तो मैं मोहब्बतों पर लिखना ही छोड़ दूं ।

 

डिवायसों के एजुकेशनल ऍप्स बना डाले ,

वरना इतने सस्ते में कभी आशिक़ ए इल्म मिलता है ।

valentine day quotes

नपी तुली रियासतों में चलते सिक्के थे ,

अब एक ही टकशाल के सिक्के हर हाल चाहिए ।

 

हर रोज़ इश्क़ के घाट पर भरते हो पानी ,

तुम भी उस्तादों की सोहबत में तालीम ए दाख़िला लेलो

 

आ गए फिर रोज़ेदारी में बुत परस्तिश छोड़कर ,

अब कहाँ कुनबे बसाओगे कहाँ बाहिस्त आबाद करोगे

 

कभी हिन्दू होता है कभी मुसलमान होता है ,

तुझसे मिलना है मेरे अजीज़ ए दोस्त जब तू बस जब इंसान होता है ।

 

छत से लटकता पंखा ये कह रहा है मुझसे ,

मेरी उम्र ए दराज़ के साथ साथ उसकी भी उम्र हो गयी हो जैसे ।

 

हम तो तुम्हे बस यूँ ही ब्याह लाये थे मैडम ,

तुम तो ख्वामख्वाह हुकुम की बेग़म ही बन गयी

 

कौन जाने फ़ितरत अंधेरों में दबे बीजों की ,

कोई घर के जंगले से आफ़ताब चूमने निकल जायेगा

 

बंद मकानों के खाली जंगले ,

ज़ब्त अंधेरों में आस बाकी है ।

 

दोज़ख भी मिल जाती है अपनों की मज़ारों पर ,

जन्नत में पहुचकर भी रूहानी जूनून ख़त्म नहीं होता ।

 

दम तोड़ देती हैं जब सारी उम्मीदें चौखट पर ,

तब कहीं जाके खुद पर यकीन होता है ।

 

रात का मर्ग कायम करके ,

मैं तेरे हिस्से की मुट्ठी भर धूप चुरा लाया हूँ ।

 

दे नहीं सकते सुकून की ग़र एक रात किसी को ,

गोया उसके हिस्से के दिन का उजाला तो न छीनो ।

 

कभी इधर से कभी उधर से चलती है तड़ातड़ ,

मरने वाले से नहीं पूछती गोली दीन ओ ईमान किसी का

 urdu shayari

रक़्स आँखों के ग़र थम जाते ,

हम भी दिल में उनके उतर जाते ।

 

लफ़्ज़ों में बयान होती है न हर्फ़ों में बयान होती है ,

ये दास्तान ए इश्क़ बस अंदाज़ों में बयान होती है ।

pix taken by google