रात की बंदिशें हों लाख सही inspirational quotes,

0
851
रात की बंदिशें हों लाख सही inspirational quotes,
रात की बंदिशें हों लाख सही inspirational quotes,

रात की बंदिशें हों लाख सही inspirational quotes,

रात की बंदिशें हों लाख सही ,

कब अंधेरों में छुपे हैं आतिश ए जिगर रखने वाले ।

 

अंधेरों में भी ज़र्रा ज़र्रा जहां का रोशन है ,

हौसला ए हुनर चरागों के जज़्बा ए जिगर का देखो ।

 

पत्थरों को चीर कर पानी का रुख़ मोड़ लायी हैं ,

हौसला लहरों का है जिनकी मौजें नदियों को समंदर से जोड़ लायी हैं ।

 

रात की बंदिशें हों लाख सही ,
रात की बंदिशें हों लाख सही ,

 

हौसला रख वक़्त बदलते देर नहीं लगती ,

अहमियत रखने वाली शख़्सियत कब कहाँ वक़्त की मोहताज़ होती हैं ।

hindi shayari 

हौसलों से आँधियों का रुख़ मोड़ देंगे ,

ज़माने को ख़बर क्या थी ये नादाँ परिंदे आसमानी ऊंचाइयों की बेड़ियाँ तोड़ देंगे ।

 

कभी सफ़हों से इल्म को आज़ाद करके देखो ,

ये सुनहरे हर्फ़ अंधेरों में खुद अपना रस्ता बनाएंगे ।

 

रात की बंदिशें हों लाख सही ,
रात की बंदिशें हों लाख सही ,

 

कितने दफ़न हैं कितने कफ़न ओढ़े खड़े हैं ,

इन क़िताबी कब्रों में जिनाद जैसे खयालात सोये पड़े हैं ।

 

उजले हर्फों वाली सुनहरी किताबों से सूरमा निकलते हैं ,

जो ज़माने में फैले अंधेरों के जाहिलों से अकेले जंग लड़ते हैं ।

 

दिखता था चेहरे पर तेरे मेरी मोहब्बत का ख़ूबरू सा असर ,

बिछड़ के मुझसे दश्त ए चेहरे की रंगत बदल गयी ।

 

रात की बंदिशें हों लाख सही ,
रात की बंदिशें हों लाख सही ,

 

सब्र रख अँधेरा चाहे जितना घना हो ,

जिसकी तक़दीर में सेहर न हो ऐसी कोई रात नहीं ।

 

ख़्याल उठ रहे हैं अंजुमन में झुरमुट की ओट से ,

घायल हैं कई गुल यहां सब्र ए शबनम की चोट से ।

 

दिखने लगा था तेरी तबीयत पर भी मेरी मोहब्बत का असर ,

बिछड़ के मुझसे तेरी तस्वीर की नज़ाक़त बदल गयी ।

 

बिख़रे पड़े हैं साहिलों पर समंदर के कितने मोती ,

तह ए दिल में छुपा रखे थे ज़मीन को ख़बर तक न थी ।

whatsapp status 

शायद कभी दिल पसीझ जाए सय्याद का ,

गुलों की मुस्कुराहटों के दम पर दुश्मन ए यार को भी रिझाये रखिये ।

 

गुलों के जिस्म से न हो जाए रंग ओ बू नदारद ,

पत्थरों के दिलों में लहू के चराग ए आफताब जलाये रखिये ।

 

pix taken by google