quotes on darkness in hindi जज़्बा ए दिल से सोचना बंद कर दिया मैंने ,

0
7139
quotes on darkness in hindi जज़्बा ए दिल से सोचना बंद कर दिया मैंने ,
quotes on darkness in hindi जज़्बा ए दिल से सोचना बंद कर दिया मैंने ,

quotes on darkness in hindi जज़्बा ए दिल से सोचना बंद कर दिया मैंने ,

जज़्बा ए दिल से सोचना बंद कर दिया मैंने ,

नज़र ए क़ातिलाना से ज़ख़्मी हज़ार मिलते हैं ।

 

रो रोके आपने मोहब्बत ए दास्तान सुनायी ,

अब खून ए जिगर से हम हाल ए दिल बयान करेंगे ।

 

मय में अब वो मैकशी नहीं ग़ालिब ,

जो उन शोख निगाहों की गुफ़तगू ए ग़ज़ल में है ।

horror story books in hindi , 

एक बला की सादगी थी उस महज़बीन में ,

खामोशियों को अल्फ़ाज़ बना देती थी बस चंद लम्हों में ।

 

जब तेरा नक़्श मेरे अश्क़ों में उतर आता है ,

मौसम ए हिज्र में भी वादिये गुल और निखर जाता है ।

 

लफ़्ज़ों में तौल लेते हैं खुशियाँ अपनी ,

दिल के ज़ख्मों का शायरी से बेहतर कोई इलाज़ नहीं होता ।

 

हर दास्तान ए मोहब्बत का यही अंजाम रहा ,

दर्द सीने में दबाये रखे होठों पर बस महबूब ए खुदा का नाम रहा ।

 

वादा ख़िलाफ़ी हमारी फ़ितरत में न थी ,

हर हुकुम को सर आँखों में रख कर बस दरबार ए हुश्न में सीधा सर को झुका लिया ।

 

बोलते लफ़्ज़ों की ग़ज़ल समझ में आती है ,

दिल में छुपा रखी है जो मोहब्बत की कशक बिन कहे वो भी तो छलक जाती है ।

 

चलता रहा हूँ हर दम मंज़िल ए मक़सूद की तरह ,

पत्थरों के शहर में न राहें न हमसफ़र ।

 

समंदर ने छुपा रखे थे तह ए दिल में उन्माद कई ,

पत्थरों पर पटकती है कदम जब लहरें शब् ए बज़्म कोई सरगम खुद बा खुद संवर जाती है ।

 

उन्वान में कुछ सूरत ए दीदा में कुछ और नज़र आते हैं ,

आजकल साहेब ए सरकार क़ातिलों के शहर में बेख़ौफ़ गुज़र जाते हैं ।

 

शहर का शहर कूद पड़ा बेहयाई की नुमाईश दिखाने में ,

आज के लोगों में इतनी भुखमरी है क्या ।

2line attitude shayari ,

सोच रहा हूँ मैं भी कुछ ग़ज़ल लिखूं ,

गोया तकाज़ा ए नज़र कहती है हाल ए दिल लिखूं या लब पे जो है बस वही फ़ज़ल लिखूं ।

 

pix taken by google ,