urdu spiritual quotes in hindi ख़ाक मिटटी का बना पुतला ताउम्र जाने किस गुमान में रहा ,

0
809
urdu spiritual quotes in hindi ख़ाक मिटटी का बना पुतला ताउम्र जाने किस गुमान में रहा ,
urdu spiritual quotes in hindi ख़ाक मिटटी का बना पुतला ताउम्र जाने किस गुमान में रहा ,

urdu spiritual quotes in hindi ख़ाक मिटटी का बना पुतला ताउम्र जाने किस गुमान में रहा ,

ख़ाक मिटटी का बना पुतला ताउम्र जाने किस गुमान में रहा ,

बिना खुदा की रहमतों के क़ायनात ए तजस्सुस भी मुमकिन नहीं अन्जान रहा ।

 

तिल भर की भी ज़मीन साथ ले जाने की औक़ात नहीं है प्यारे ,

बात करते हैं उस खुदा की जिसने सारी क़ायनात की मिल्कियत से इब्न ए इंसान को मालामाल किया है ।

 

एक खुदा एक नमाज़ एक इबादत एक बंदगी ,

सब आसमानी फरिश्तों के बन्दे हैं फिर इंसान की इब्न ए इंसान से बेरुखी कैसी ।

 hindi shayari

हाल ए दिल अपना सुनाने में मसरूफ रहे हम ,

वो इस बात पर खफा थे ज़िक्र ए ज़िरह का उन्हें मौका नहीं मिला ।

 

निकले थे इस ख़्याल में सजेंगे बाग़ ए नौ बहार ,

गोया मौसम ए तपिश से अरमान जल गए ।

 

हमारे दर से उठा जो जनाज़ा उनका ,

दिल ए नासाद तो था ही न जाने चराग क्यों बुझ से गए ।

 

दिल ए वीरान की तस्वीर दिखा दी उनको ,

वो हंस के बोल दिए बाग़ ए बहार के रहनुमा किसके इश्क़ में उजड़े चमन के तलबगार हुए ।

 

रूबरू होकर भी मुख़ातिब नहीं होते ,

कारोबार ए इश्क़ की थकन से इस कदर चूर हो जैसे ।

 

तुनुकमिजाजी उनकी हमने उठा रखी थी सर आँखों पर ,

गोया हमारी बरसों की मोहब्बत को भी ज़राफ़त का इल्ज़ाम लगाया गया ।

 

उसकी ज़हर भरी नज़र के बीमार थे चारसू ,

वो हमको भी गुफ्तगू ए ग़ज़ल में अज़ाब पिलाता चला गया ।

 

चंद लम्हों का इंतज़ार अखरता है उन्हें ,

जिनकी राहों में तमाम उम्रें गुज़ार दी हमने ।

 

जाने किस बात पर ख़फ़ा हैं वो ,

उनकी हर एक बात पर बिना सोचे इख़्तियार किया है हमने ।

 

इक मुख्तसर सी मुलाक़ात में शब् ओ रोज़ थे जगे ,

सबने यही समझा इसका तो हर रोज़ रोजा है ।

asli bhoot ki kahani , 

आँखों में चुभ रही है वो कील भी मुझे ,

टांगी थी जिससे दीवार पर तस्वीर आपकी ।

pix taken by google ,