दिल ए फ़ानी की हिमाक़तें तो देखो मोहसिन funny political shayari ,

0
354
दिल ए फ़ानी की हिमाक़तें तो देखो मोहसिन funny political shayari ,
दिल ए फ़ानी की हिमाक़तें तो देखो मोहसिन funny political shayari ,

दिल ए फ़ानी की हिमाक़तें तो देखो मोहसिन funny political shayari ,

दिल ए फ़ानी की हिमाक़तें तो देखो मोहसिन ,

लाख बर्बादियों के बाद भी इश्क़ किये जाता है ।

 

ज़ाहिलों से न मोहब्बतों का ऐतबार करो ,

इनकी अदावतों का भी इंसानियत से एहतेराम करो ।

 

ये ज़ख्म हैं मोहब्बत के इंसानियत से सम्हाले रखो ,

तन्हाइयों में नासूर सही ग़म ए उल्फत से राहत देगे ।

 

ये जो जनाज़े में भीड़ उमड़ी है मोहसिन ,

हद से ज़्यादा लेनदार देनदार ही होंगे ।

 friendship shayari in hindi

ये जो आले में सजा रखी हैं तस्वीरें यार की ,

गोया सजावटी हैं कोई इश्क़ ए तलबग़ार तो नहीं ।

 

चित्रपट की बदलती तस्वीरों पर मत जाना ,

ये बड़ी ख़ामोशी से दिल फ़रेब करती हैं ।

 

तुझसे मुलाक़ातें बड़ी महँगी पड़ती हैं दिल पर ,

सोचता हूँ तेरी तस्वीरों से बस आँखें चार करूँ ।

 

सब पर खुलती नहीं ये तस्वीर ए फ़ानी फ़ितरतों वाली ,

जिसे रखती हैं दिल में बस उसी पर वार करती हैं ।

 

सोचता हूँ तुझे एक ताज़ा तरीन नज़्म पेश करूँ ,

तू भी तेरी तस्वीर सी मुस्कुराये कभी तो ऐ मेरी जान ए ग़ज़ल तुझको मैं जान अपनी पेश करूँ ।

 

तुम्हारी मोहब्बतें भी हैं अदावतें जैसी ,

खुल के मिलती नहीं पीठ पीछे सादाकशी से वार करती हैं ।

 

हर सूरत ए तस्वीर की सराफ़तें फ़ानी हैं ,

कुछ की सीरतें फ़ानी हैं कुछ के नैन ओ नक़्श फ़ानी हैं ।

 

वाक़या ए ख़ास या सूरतें अजीज़ होती हैं ,

यूँ ही नहीं तस्वीर दिल नशीन होती हैं ।

 festival shayari in hindi

यूँ ही अदालतों में सत्य की देवी अंधी नहीं होती ,

सज़ा के बाद भी मुज़रिम जमानतों में उम्रें काट लेते हैं ।

 

चेहरे बदल जाते हैं तस्वीरें बदल जाती हैं ,

वकील ए सफाई से तहरीरें बदल जाती हैं ।

 

कितना चला केस तेरा साल आगे निकल गया ,

बच गया मुवक्किल पैरवी करने वाला मर गया I

 

तेरी तस्वीर से बातें होती हैं ,

जब भी होता हूँ तन्हा ख़ुद से मुलाक़ातें हर रोज़ होती हैं ।

pix taken by google