नैनों की बतियाँ दिल को दिल की पतियाँ देती हैं romantic shayari,

0
544
नैनों की बतियाँ दिल को दिल की पतियाँ देती हैं romantic shayari,
नैनों की बतियाँ दिल को दिल की पतियाँ देती हैं romantic shayari,

नैनों की बतियाँ दिल को दिल की पतियाँ देती हैं romantic shayari,

नैनों की बतियाँ दिल को दिल की पतियाँ देती हैं ,

तुम ज़बान ख़ामोश रखो हिलती डुलती लबों की पंखुड़ियाँ राज़ सब बोल देती हैं ।

 

एक ख़्वाब सजा तू अंतर मन में तू नौका मैं पतवार बनू ,

पुरज़ोर लगा पूरे बल से मैं स्वप्नों का व्यापार करूँ ।

 

अंतर मन की अभिलाषा है एक द्वन्द द्वन्द सा उठता है ,

कोई राग द्वेष संताप न हो कलुषित मन से कोई पाप न हो ।

 

हिंडोलों तक पहुँचने के लिए पथिक राह बहुत है शोलों की ,

गर थाम जिगर हुंकार भरे न देख सोच बर्फ के गोलों की ।

 

तन्हा रात का ख़्वाब कातते रहना तेरी कमी होने नहीं देता ,

चाँद का मुझे ताकते रहना दिल में नमी होने नहीं देता ।

2line shayari

बिन तेरे बेरंग हैं सब रंग दाग़ ए दामन पर रंगरोगन है ,

लोग देते है दाद तेरे बाद हर नूर बेनूर होने का ।

 

वो तेरा हमारी गलियों से दबे पाँव जाना ,

फिर मुड़ना देख कर मुझको लौट आना ,

बहुत खलता है दिल को अब तेरा कभी न लौट कर आना ।

 

ज़माने भर के मोहब्बतों का क्या ठेका लेके रखे हैं हम ,

थक के चूर हो गया हूँ मैं ये इश्क़ ए कारोबार करते करते ।

 

रहनुमा बनकर जो साथ तेरे चलता है ,

नूर है ख़ुदा का जिसे साया तू समझता है ।

 

मत दाद दे मुझको तक़दीर का मारा हूँ ,

आया नहीं खुद जहन्नुम ए दुनिया में ,

कहने को खुदा का हमसाया हूँ ।

 

सोचता हूँ कभी कविताओं को बाहर घुमाऊँ टहलाऊँ ,

गोया क़ब्रों में बड़ा सुकून मिलता है ज़ख़्मी रूहों को ।

 

नाराज़ हो तो अपनी यादों से कह दो बिस्तर बदल दें ,

गोया अब एक साथ मुमकिन नहीं रूठे रहकर हम बिस्तर भी हो जाना ।

 

ख़ुशी क्या गई संग खुशियाँ भी रुख़्सत हो गयीं ,

कितनी खुशियां थी जब कॉलेज में संग पढ़ती थी दोनों ।

bhayanak horror story

क्या तज़ुर्बा है इश्कबाज़ी का ,

मोहतरमा तो इश्क़ की पाठशाला में आप तो हमारी भी खाला निकली ।

pix taken by google