लाइलाज़ है इश्क़ love shayari ,

0
737
लाइलाज़ है इश्क़ love shayari ,
लाइलाज़ है इश्क़ love shayari ,

लाइलाज़ है इश्क़ love shayari ,

लाइलाज़ है इश्क़ ,

जान बूझ कर करने वालों को सज़ा ए मौत मिलनी ही चाहिए ।

 

पलकें जो खोल तू तो तेरे दिल में झाँक लूँ ,

कहते हैं आँखें भी दिल का आइना होती हैं ।

thriller stories in hindi

आँखें ही हैं गवाही तू कभी मेरा प्यार था ,

संगदिल हुआ ज़माना ज़ालिम तेरे बग़ैर ।

 

अधर में लटका है इश्क़ सर कहीं टाँग कहीं है ,

अभी यहीं था दिल अब पता नहीं ये बात सही है ।

 

सदके उतारे तेरे आ जान वार दूँ ,

सर से दुपट्टा जो तेरे सरके इमान वार दूँ ।

 

इंसान मिटटी का बुत है शीशे से हैं अरमान ,

दो जख को बाँट डाला लेकर हाँथ में बाइबिल गीता क़ुरान

 

दोजख के ख़ुदा राम तुझे सज़दे में दे दूँ ,

एक मेरा ख़ुदाया है जो मुझे मिल नहीं सकता ।

 

आलम ए जश्न ए तन्हाई भी अज़ीब है ,

आस्मां पर सजी चाँद तारों की बारात ,

ज़मीन का ज़र्रा ज़र्रा ख़ाक होने के कू ब कू है ।

 

तू नहीं तो जुस्तजू ए यार सही ,

कू ब कू हसीं सा मंज़र रूबरू तेरे कुछ हसीं नहीं ।

 

ख़ुदा भी ख़ुदाई छोड़ देते हैं ,

जब गुज़रते हैं मेहबूब की सुर्ख गलियों से जनाज़े भी कफ़न ओढ़ लेते हैं ।

2 line attitude shayari 

शर्त है यूँ न सर ए आम रुख़सार से पर्दा हटाइये ,

बेमुरव्वत में मरेगे बेगुनाह शब् ओ सेहर ज़रा नज़रें बचाइए ।

 

मोहब्बत का नाम पुरानी किताबों में पलटता था कभी ,

अब बस लोग इश्क़ करके पलटते रहते हैं ।

 

नक़ाब ओढ़ने वाला शख्स फ़रेबी नहीं होता ,

कुछ ज़माना ए दस्तूर का भी हिज़ाब होता है ।

 

हुनरबाज़ी कहूँ या जाल साज़ी मानू ,

जब बी अपना वक़्त आया बड़ा बेवक़्त आया ।

 

चमड़े की ज़बान सा फिसला इधर उधर ,

गोरी चमड़ी सा इश्क़ है देखा जिधर किधर ।

 

उजली उजली साँझ सुनहरी धुँधला धुँधला अम्बर है ,

नील गगन पर जगमग तारे शोभित चाँद शिरोमणि है ।

pix taken by google