man eater lion a thriller adventurous short story

0
1414
man eater lion a thriller adventurous short story
man eater lion a thriller adventurous short story

man eater lion a thriller adventurous short story

man eater lion a thriller adventurous short story , सर्दियों का मौसम जंगल में चारों तरफ फैला कोहरा , सागौन साल के पेड़ों के बीच से छनती सूरज की मद्धम किरणें ।

कहीं कहीं जंगल में उछलता कूदता हिरणों का झुण्ड तो कहीं मोर की सुरीली आवाज़ , कहीं कुलाचे भरते खरगोश तो कहीं

पंछियों का कलरव , इन्ही सबके जंगल के ठीक बीचो बीच शेरों का परिवार शेर शेरनी और दो नन्हे मुन्ने शावक , पूरा

परिवार आराम से मौसम के मजे ले रहा था , तभी उस तरफ एक जिप्सी जिसके ऊपर लगी पीली बत्तियों कोहरे को

काटती हुयी आगे बढ़ रही थी , ये साफ़ हो गया था की हो न हो ये जिप्सी शिकारियों की है, अचानक जिप्सी रुक गयी

रास्ता दुर्गम था आगे का सफर पैदल ही तय करने का निश्चय किया गया और उसमे से चार शिकारी बन्दूक के साथ नीचे

उतरे और घने जंगल की ओर उनके कदम बढ़ चले , उन्हें बहुत आगे नहीं जाना पड़ा अचानक उनकी नज़र शेर के परिवार

पर पड़ी और दे दाना दान ४ पांच गोलियां चली , सब कुछ शांत हो गया शेरनी वहीँ ढेर हो गयी , शेर जंगल में भाग गए

शावक भी झाड़ियों में छुप गए , थोड़ी सी मेहनत मसक्कत के बाद शिकारियों ने शावकों को भी पकड़ लिया और उन्हें

अपने साथ शहर ले आये ,

अब एक ख़ुफ़िया जगह पर पर तस्करों की मीटिंग बुलाई गयी जहां शेरनी की खाल और शावकों को बेचने की बोली लगाईं

जा रही थी ।

मौत उन शिकारियों का कब से पीछा कर रही थी इस बात की उन्हें तनिक भी ख़बर नहीं थी ,

चारों ने सौदा तय होने के बाद दमदार पार्टी की , देर रात तक जश्न मनाया और अपने अपने कमरे में सोने के लिए चले

गए , सुबह जब उठे तो देखा उनमे से एक शिकारी का दरवाज़ा अभी तक नहीं खुला , बाकी सबने सोचा रात को ज़्यादा

पी लिया था इसलिए अभी उतरी नहीं होगी , दोपहर होने को है सबने उसका फोन लगाया बस रिंग जा रही थी , तब

उनमे से एक गया उसे उठाने डोर बेल बजाई कोई हरकत नहीं वो बाकि और दोस्तों को बुलाया फिर भी दरवाज़ा नहीं खुला

तो सबने दरवाजा तोड़ने का निर्णय लिया , और जैसे ही दरवज़ा तोड़ कर अंदर पहुंचे सामने खून से लथपथ एक मानव

कंकाल पड़ा था , मांस नाम का एक टुकड़ा नहीं था उसके हड्डियों पर ,

सब परेशान हो गए , फ़ौरन पुलिस को इत्तेला किया गया पुलिस आई मगर का क़ातिल का कोई सुराग नहीं मिला ,

बाकी शिकारियों को लगा की हो न हो माल खरीदने वालों की ही ये हरकत होगी , उन्होंने उसने पूछ ताछ की मगर उन्हें

कोई सुराग नहीं मिला अंततः ये निर्णय लिया गया की उसका कोई पर्सनल मैटर रहा होगा , तभी इतना बुरा क़त्ल किया

गया ,

पुलिस भी उनपर जांच बिठा रखी थी आये दिन थाने का आना जाना तो कहीं पुलिस खुद आ धमकती थी , परेशान थे

तीनो , उधर से सौदागरों ने भी माल डिलीवरी का प्रेशर बना रखा था , फिर उन्होंने सोचा जो साथी मरा तो मरा ठीक ही

मरा अब पैसों के बस तीन हिस्से होंगे , अब सब माल डिलीवरी का प्लान बना लिए की नेक्स्ट फ्राइडे को डिलीवरी की

जाएगी आधी रात का वक़्त तय किया गया,

 

सबने एक दुसरे को विदा किया और अपने अपने घर को चल निकले , रास्ते में दूसरा शिकारी थोड़ा हल्का होने के लिए

बाइक से उतरा उसे ऐसा लगा झाड़ियों से कोई उसे देख रहा है वो फ़ौरन बाइक स्टार्ट किया और भाग लिया , मगर ये

क्या पीछे से एक शेर उसका पीछा कर रहा था , वो ज़्यादा दूर बाइक से नहीं भाग पाया की शेर ने उचक कर झपटटा मारा

दुसरे ही पल वो ज़मीन पर बाइक दूर जा गिरी , शेर के अगले दो पैर उसके सीने पर और अगले ही पल गर्दन पर दांत

गड़ाता हुआ घसीटता झाड़ियों में खींच ले गया ।

अगले दिन सुबह जब दूसरे शिकारी का कोई पता नहीं चला सब परेशान हुए फिर पुलिस की हेल्प ली गयी , पुलिस ने

झाड़ियों से फिर वही बिना मांस की हड्डियों के ढांचा बरामद किया । लेकिन पुलिस ने ये अब क्लियर कर दिया था की हो

न हो ये किसी जंगली जानवर का काम है ।

 

सबने सोचा सूनसान रास्ता है कर दिया होगा कोई जंगली जानवर हमला । अब बचे दो शिकारी और बहुत खुश हुए अच्छा

मर गया एक और पार्टनर ख़त्म अब पैसे दो हिस्सों में बटेंगे ।

दोनों ने प्लान बनाया माल की डिलीवरी जल्दी से जल्दी की जाए ताकि पैसे जल्दी मिले और वो कहीं बाहर निकल ले ।

आखिर डिलीवरी का दिन भी आगया माल यानी शेरनी की खाल और दो शावक के साथ न जाने कितने जानवरों की खालें

हांथी दांत सब लादकर ट्रक रवाना हुआ सूनसान रास्तों से बाहर ही बाहर जहां कोई चेकपोस्ट न पड़े ।

 

मगर ये क्या सामने तो एक शेर रास्ता रोके खड़ा है , ड्राइवर को निर्देश मिलता है की शेर को कुचल डालो , ड्राइवर ट्रक

आगे बढ़ाता है और दूसरे ही पल शेर ट्रक के बोनट पर आ धमकता है ड्राइवर डर जाता है और ट्रक छोड़कर भाग जाता है ,

तभी बचे दो और शिकारियों की कार पीछे से वहां आ जाती है वो वहाँ ड्राइवर को नहीं पाते हैं और गुस्सा हो कर ट्रक खुद

चलाने का निर्णय लेते हैं एक शिकारी ट्रक सम्हालता है दूसरा कार चलाता है , थोड़ा आगे बढे ही थे की कार वाले शिकारी

को कार की पिछली सीट पर शेर दिखाई देता है और हड़बड़ा कर कार खाई की ओर मोड़ देता है तभी शेर कूद जाता है ,

और शिकारी मारा जाता है ।

इस सबसे अनजान ट्रक वाला शिकारी आगे बढ़ता जा रहा है उसे ट्रक के मिरर पर शेर पीछा करता हुआ दिखाई देता है वो

ट्रक और तेज़ चलाता है ट्रक घुमाव दार पहाड़ियों के बीच से होकर गुज़र रहा है , शेर उसका पीछा सीधा पहाड़ियों के रास्ते

से करता है , और एक जम्प के बाद सीधा ट्रक के ऊपर पहुंच जाता है ,

 

और इसी बीच ट्रक बहक जाता है और एक चट्टान से जाकर टकरा जाता है , लास्ट शिकारी ट्रक का कांच फोड़कर सीधा

बाहर आ गिरता है दूसरे ही क्षण खुद को शेर के सामने असहाय मजबूर पाता है वो तुरंत अपना रिवाल्वर निकलता है शेर

पर लगातार फायर करता है मगर शेर बच जाता है गोलियां भी ख़त्म हो जाती हैं ,

 

शेर उसकी तरफ बढ़ता है पीछे खाई होती है आखिर कार वो भी खाई में गिर कर मर जाता है , शेर ट्रक में क़ैद अपने

बच्चों को बाहर निकालता है और जंगल की ओर चला जाता है । बाकी शिकार का माल पुलिस बरामद कर लेती है । और

शावक शेर के साथ जंगल में हंसी खुसी रहने लगते हैं ।

candy floss horror story in hindi for child , 

the end

pix taken by google