क़ातिलाना ए अंदाज़ ये अदाओं में दिल फरेबी friendship shayari in hindi,

1
516
क़ातिलाना ए अंदाज़ ये अदाओं में दिल फरेबी friendship shayari in hindi,
क़ातिलाना ए अंदाज़ ये अदाओं में दिल फरेबी friendship shayari in hindi,

क़ातिलाना ए अंदाज़ ये अदाओं में दिल फरेबी friendship shayari in hindi,

क़ातिलाना ए अंदाज़ ये अदाओं में दिल फरेबी ,

ख़ुदा इन हसीन चेहरों की रंगीनियों से बचाये ।

 

सरीफ़ों की दुनिया में सराफ़त से डर लगता है ,

रंगीन लिबासों में दिल फ़रेबी जिस्मो का डेरा है ।

 

रवायतें हैं जो जिस्मो को सँवारने की ,

एक हाका चला के शहर ए गर्दी से दफा कर दो

 

सजते हैं रात देर तलक जाने किसके वास्ते ,

सेज़ के कुचले मिले हैं फूल एक अनजान रास्ते

bewafa shayari 

क्या गज़ब की रवायतें हैं जिस्मो के वास्ते ,

सिंगार सजा कर फिर कफ़न उढा देते हैं मैय्यत के वास्ते

 

सज संवर के निकले हो यूँ खुली सड़क में ,

इरादा सर क़लम का है या क़त्ल ए आम करोगे

 

जिस्म ग़रूर का पुतला ,

ख़ाक ए सुपुर्दगी से ज़्यादा जिसकी औक़ात नहीं ।

 

उम्रें गुज़ार दीं जिस्मो को सजने सँवारने में ,

आखिरी सिंगार रूहों का एक दम से ही सादा है

 

ज़िद है तेरी माँग में चाँद तारे भर दूं ,

मगर चाँद तारों में तुझसे ज़्यादा गज़ब का नूर नहीं।

 

आओ की शाम ढलने लगी ,

शाम ए बज़्म में फिर ग़ज़ल रंगीन होने को है I

 

दाग़ बनकर जिगर में उतरा है ,

इश्क़ का रंग ज़माने भर के रंगों से गहरा है ।

 

सियासियों का कमाल है ,

जिनसे कुछ नहीं आता उनको मज़हबी रंगों में ढाल दो ।

 

जलते भी रहे तिल तिल बुझते भी रहे तिल तिल ,

हम इश्क़ के मारों का हर रंग निराला है

 

तुम तो परंपराएं निभाते गए रंगों की तरह ,

एक दिल ए नादान हमारा ही है जो रश्म ए उल्फत के सवाल को बुनता है ।

 

तह दर तह सवालों की रंगीन परत ,

ज़िन्दगी बर्क़ के भीतर भी मुर्दों सी बासिन्दा थी ।

sad shayari 

वो सवालों में रंग भरते हैं ,

मेरा हर जवाब अँधेरा है ।

 

क्या कहोगे उसको जो मुंसिफ था मेरा ,

जब भी मिलता है मुझसे सवाल बनके मिलता है ।

 

दरमियाँ फासले बढ़ गए इतने ,

हमने पुछा नहीं उसने जवाब देना भी मुनासिब ना समझा ।

pix taken by google