one line thoughts on life in hindi करवट बदलते यार की राहों में शब् भर मरे ,

0
713
one line thoughts on life in hindi करवट बदलते यार की राहों में शब् भर मरे ,
one line thoughts on life in hindi करवट बदलते यार की राहों में शब् भर मरे ,

one line thoughts on life in hindi करवट बदलते यार की राहों में शब् भर मरे ,

करवट बदलते यार की राहों में शब् भर मरे ,

जलता है माहताब फ़लक का लब से उफ्फ तक न करे ।

 

यूँ नहीं की अब वो याद आता नहीं ,

बस ख़्याल ए यार से दिल कोई गीत गुनगुनाता नहीं ।

 

ज़मीन तो ज़मीन आसमान बिकते देखा है ,

इस शहर के बासिंदों को आसमान में उड़ते देखा है ।

 

गुज़रे वक़्त की तस्वीरें हैं जो आँखों से ओझल होती नहीं ,

रंग ओ बू लाख हों मद्धम ख्वाहिशें आज भी दीदा ए यार की दिल में दफ़न होती नहीं ।

 

बड़ी बेफ़िक्री में रहते हैं यही तो फ़िक्र है हमको ,

हमारे दिल का मक़ाम किसी गैर का मकान न हो जाए ।

 

ज़मीन ज़मीन को मुक़म्मल नहीं ,

आसमान आसमान को सदायें देता रहा ।

 

जानवर में इतनी वहसत ही नहीं है ,

शहर ए आदम में आजकल के जितनी इंसानियत भरी है ।

2line attitude shayari ,

कहाँ से आये थे कहाँ को जाओगे ,

यूँ ही कहीं गुमनाम तो न हो जाओगे ।

 

हमने रखा था तुमको दिल में चिलमन से ढाँप के ,

खुशबुएँ यूँ सर ए आम बिखेरोगे बदनाम तो न हो जाओगे ।

 

शहर भर में इमारतें खड़ी ज़रूर हैं ,

बस ईंट गारे की चीखती दीवारें हैं और हर बुनियाद है हिली हुयी ।

 

हाँथ उठे हैं दुआओं में गर जाया नहीं जाता ,

बस खुदा की रहमत नज़र आती है जब कोई रहबर नज़र नहीं आता ।

 

खुद बा खुद वक़्त बदल देता है तस्वीर आपकी ,

रूबरू ए आईना में किसी को सजना नहीं पड़ता ।

 

दिल का जलता मशाल लेकर सदायें तफ्तीश को निकले ,

घनघोर अंधेरों में गुमनाम सी थी वीरानियाँ बहुत ।

 

वो हंस कर के कह रहे हैं कुछ लफ़्ज़ों में वजन लाइए जनाब ,

ये दर्द ए एहसास ओ तीर ए नश्तर बिना रंग ए लहू के जिगर में उतरते ही नहीं ।

real spirit stories in hindi,

ज़माने की वाह वाही में सिमट गए हैं सुख़नवर अपने ,

कारवाँ ए मोहब्बत तमाम उम्र बस यूँ ही मंज़िलों का तलबगार रहा ।

video shayari

 

pix taken by google ,