and machine-indeed fear ai scary story in hindi ,

1
530
and machine-indeed fear ai scary story in hindi ,
and machine-indeed fear ai scary story in hindi ,

and machine-indeed fear ai scary story in hindi ,

ठण्ड का समय है चारों तरफ घना कोहरा छाया हुआ है , कार १० की रफ़्तार से दौड़ी जा रही थी , कार में बैठा शक्श अपने दोस्त से बोलता है गाड़ी रोक यार पेशाब करना है , दोस्त गाडी रोक देता है लड़का झाड़ियों के पास जाकर हल्का होने लगता है तभी उसकी नज़र सामने पत्ते की ओश पर पड़ती है जिसकी बूँद ज़मीन पर टपकती है और ज़मीन में मिल जाती है , तभी उसकी नज़र अपनी पेशाब पर पड़ती है वो भी ज़मीन में मिल जाती है , वो हल्का होकर वापस कार में बैठता है , और अपने दोस्त से बोलता है भाई इस दुनिया जो भी चीज़ बानी है आज नहीं तो कल सबको नष्ट होना है दुनिया भौतिकवाद पर जी रही है , जबकि हक़ीकत ये है सब कुछ अणु- परमाणु की थ्योरी पर चल रहा है ड्राइविंग सीट पर बैठा दोस्त कहता है , भाई तुझे न पार्टी में ज़्यादा चढ़ गयी है , बहन,,,, इसलियए तू आध्यात्मिक बातें कर रहा है , पहला वाला बोलता है तू देख लेना एक दिन तेरे को मेरी बात समझ में आएगी , और कार बातों ही बातों में रोड से निकल जाती है ,

dard bhari shayari in hindi 160,

राजवीर की ख़ुशी का आज ठिकाना नहीं था उसकी आँखों में अलग की तरह की चमक देखकर ही महसूस की जा सकती है , राजवीर डॉल के फीचर्स के बारे में सोच सोच कर ही हैरान हो रहा था , डॉल के परफॉर्मेंस उसकी कल्पना से परे थी , राजवीर ने उसका नाम नैना रखने का फैसला किया है , राजवीर जीपीएस ट्रैकिंग डिवाइस से नैना की एक्टिविटीज को मोबाइल से -भी ट्रैक कर सकता है , ट्रैकिंग डिवाइस से जब वो मोबाइल को कनेक्ट करता है तब पता है की नैना रूम में उस जगह नहीं है जिस जगह उसने चार्ज में लगाया था , ऑफिस का काम निपटा कर राजवीर घर जल्दी पहुंच जाता है , और घर पहुँचते ही नैना उसका स्वागत गर्म जोशी से करती है , राजवीर उसे अपनी बाहों में भर लेता है , नैना कहती है पहले तुम फ्रेश हो जाओ फिर इसके बाद रोमांस करेंगे तुम्हारे जिस्म से पसीने की बदबू आरही है , राजवीर कहता है लेकिन तुम तो मशीन हो , तुम्हे मेरे पीने की बदबू से क्या प्रॉब्लम हो सकती है , नैना कहती है मैं नार्मल रोबोट नहीं हूँ डिअर मैं ए आई रोबोट हूँ रोबोटिक्स की दुनिया का लेटेस्ट वर्जन हूँ मैं और तुम्हरे पसीने के जर्म्स से मेरे डिजिटल पार्टिकल्स डैमेज हो जायेगे जिसके बाद मैं सिर्फ सेक्स डॉल बन के रह जाऊंगी और फिजिकल रिलेशन के वक़्त तुम्हे नेचुरल फीलिंग्स नहीं दे पाऊंगी , और मुझे नहीं लगता है इतनी नायाब चीज़ को तुम इतनी आसानी से खुद खराब करना चाहोगे मुझे इतनी आसानी से रिपेयर नहीं किया जा सकता है , नैना की बातें राजवीर के दिमाग से परे थी , राजवीर बोलता है ओके मैं पहले फ्रेश हो लेता हूँ फिर मिलता हूँ वॉशरूम जाते जाते राजवीर कहता है आजाओ तुम भी साथ में को बाथ का मज़ा लेते हैं नैना कहती है छड जाण दे नॉटी राजवीर कहता है ओये होये तैनू पंजाबी भी आंदि यै , नैना कहती है तू बोल तो रशियन भी सुना दूँ राजवीर कहता है रहन दे तू तो बस रसियन वाला मज़ा दे मैनू और बोलता हुआ वाश रूम में घुस जाता है ,

तभी राजवीर के फोन की रिंग बजती है , कॉल राजवीर की माँ का था नैना फोन देखती है मगर कुछ नहीं बोलती है ,

राजवीर फ्रेश होकर बाहर आता है , अपना फोन चेक करता है और माँ को रिटर्न कॉल करता है , माँ कहती है शिमला वाले राजिंदर भाई साहेब के यहां शादी में गयी थी अभी कल ही लौटे , और हाँ तेरे लिए एक चंगी कुड़ी देखी है कश्मीर की कली है तू तो देख ले बस लट्टू हो जायेगा कचनार की कच्ची कली है बस तू एक बार देख ले और हाँ कर दे, बैशाखी के बाद वाले लगन में तेरा सगुन पक्का हो जावेगा बस फिर क्या झट मगणी तै चट्ट ब्याह देरी दा कोई लफड़ा नहीं इसके बाद सीधा हनीमून के लिए पेरिस चले जाना टिकट दा पैसा मैं देवांगी मेरे पुत्तर दा ब्याह हो और मैं इत्ता भी न कर सकूं तै धिक्कार है मैनु , तू वाट्सएप्प देख मैं अभी फोटू भेजती हूँ कुड़ी की बस तू मना न करियो , राजवीर माँ की बातों को सुनकर भावनाओं में बह जाता है , और माँ को न नहीं बोल पाता है, माँ फ़ौरन वाट्सएप्प में लड़की के पिक्चर भेजती है राजवीर पिक्स देखता है और देख कर दंग रह जाता है , वो माँ को हाँ बोल देता है तभी नैना किचन से चाय बना कर लाती है , राजवीर के चेहरे में ख़ास स्माइल देखकर नैना से रहा नहीं जाता है वो फ़ौरन समझ जाती है और राजवीर से कहती है बहुत खुश नज़र आरहे हो क्या बात है , राजवीर कहता है माँ का फोन था अब मेरी शादी होने वाली है उन्होंने मेरे लिए लड़की देख ली है , नैना कहती है शादी के बाद मेरा क्या होगा , राजवीर थोड़ा सोचता है फिर कहता है तुम भी रही आना मैं बता दूंगा ये ओफिसिअल रोबोट है , मुझे ऑफिस से केस स्टडी के लिए मिला है , नैना मुस्कुरा देती है राजवीर उसे अपनी बाहों में खींच लेता है , और धीरे धीरे उसे अपनी आगोश में ले लेता है , सीने से लगते ही राजवीर को महसूस होता है की नैना की हार्ट बीट राजवीर की हार्ट बीट के साथ घट बढ़ रही है , राजवीर कहता है तुम्हारे अंदर से तो इंसानो जैसी धड़कने सुनायी देती है , नैना कहती है सब आर्टिफीसियल है जब इंसानो को नकली दिल लगाया जा सकता है फिर मैं तो मशीन हूँ फन डॉल को रियल फील करने के लिए इसमें भी वही तकनीक उपयोग की गयी है , कोई बात नहीं सोनियो बोलता हुआ नैना के साथ मोहब्बत की अनंत गहराइयों में गोते लगाने लगता है , और इसी गुत्थमगुत्थी में न जाने कब सुबह हो जाती है समझ में ही नहीं आता , अभी न्यूज़ पेपर में राजवीर पढ़ रहा था की ए आई टेक्नोलॉजी आजाने से जन्म से अपाहिज रोगियों को भी कृत्तिम अंग लगा कर पुनः पहले जैसा स्वस्थ किया जा सकेगा और , मृत लाशों को ए आई की मदद से ज़िंदा करके आर्मी में जवानो की जगह काम में लाया जायेगा , राजवीर कहता है यार ऐसा हो गया तो लोग कभी मरेंगे ही नहीं और जंग के के मैदान में किसी को क़ुर्बानी नहीं देनी होगी , राजवीर ख़ुशी के मारे झूम उठता है तभी नैना बीच में बोल पड़ती है जंग है तो क़ुर्बानी है फिर वो चाहे इंसानो की हो या मशीनों की , राजवीर कुछ बोल पाता तभी उसकी माँ का फोन आजाता है वो नैना से एक्सक्यूज़ मी बोलता हुआ बालकनी की तरफ चला जाता है , नैना समझ जाती है वो अपने आपको चार्जिंग पॉइंट में लगा के सोफे में बैठ जाती है , इधर माँ राजवीर से कहती है तू फ़ौरन भटिंडा चला आ लड़की वाले आरहे हैं कल यहीं दोनों एक दूसरे से मिल लेना , राजवीर ओके माँ बोलता हुआ फ्लाइट की टिकट बुक करता है , और अपना सामान पैक करने लगता है , नैना बोलती है हैप्पी जर्नी , और इसी के साथ वो नैना की बैटरी स्विच ऑफ करता हुआ फ्लैट से निकल जाता है , इधर डोर लॉक होते ही नैना की आँखों के लेंस एक बार पुनः ब्लिंक होने लग जाते हैं ,

cut to ,

short scary stories to read online,

राजवीर भटिंडा पहुंच चुका था माँ ने लड़की दिखाई , राजवीर को लड़की देखते ही पसंद भी आ गयी , और नेक्स्ट वीक में शादी और सगाई दोनों का प्रोग्राम भी रख दिया , राजवीर ने वही से १ सप्ताह की छुट्टी की आवेदन भी लगा डाली, इधर नैना ने अपने आप को अनलॉक्ड कर चुकी थी अब उसके ऊपर किसी की कोई कमांड नहीं थी, और ना ही उसे मोबाइल से ट्रैक किया जा सकता था उसने अपने आप को सेटेलाइट से कनेक्ट करके खुद को नए वर्जन में अपग्रेड कर लिया था इसी के साथ राजवीर के तमाम ऑफिसियल और परसनल डाक्यूमेंट्स का डाटा नैना की हार्ड डिस्क में सेव था , शादी होने के तुरंत बाद ही राजवीर और उसकी पत्नी हनीमून के लिए स्विट्ज़रलैंड निकल जाते हैं , और १ मंथ बाद वो सीधा राजवीर के फ्लैट में पहुंचते हैं , राजवीर फ्लैट का लॉक खोलता है , सब कुछ व्यवस्थित पाकर वो बहुत खुश होता है और नैना भी उसी जगह पर बैठी थी जहां वो उसे बिठा के गया था , सब कुछ व्यवस्थित देखकर राजवीर बहुत खुश होता है , तभी उसकी नज़र धूल खाई डॉल नैना पर पड़ती है वो उसे एक बोरे में भर कर घर के गोदाम में फेंक आता है , अपनी पत्नी सिमरन को वो उस डॉल के बारे में कुछ नहीं बताना चाहता है , रात भर नैना वहीँ गोदाम में पड़ी रहती है , दूसरे दिन राजवीर ऑफिस चला जाता है , तभी घर के गोदाम से प्लीज ओपन द डोर की आवाज़ सुनायी देती है , सिमरन पहले तो डर जाती है मगर हिम्मत करके वो दरवाज़ा खोलती है , सामने लड़की जैसी डॉल देखकर हक्की बक्की रह जाती है , नैना कहती है मैं डॉल हूँ मुझे गोदाम में मत रखो प्लीज मेरा दम घुटता है मैं मशीन हूँ डस्ट मैं बर्दास्त नहीं कर पाती मेरे इलेक्ट्रॉनिक पार्टिकल्स डैमेज हो जायेगे , अब अगर तुम लोगों को मेरी ज़रूरत नहीं है तो मुझे कंपनी को वापस कर दो या किसी और ओनर के हैंडओवर कर दो सिमरन कुछ समझ पाती इससे पहले वो डॉल फफक फफक कर रोने लग जाती है प्लीज मुझे मत निकालो में नौकरानी बनकर रहूंगी घर का सारा काम कर लूँगी , सिमरन घरेलू सीधी साधी लड़की उसकी बातों में आजाती है और भावना में आकर उसके आंसू पोछती हुयी उसे अपने गले से लगा लेती है , तभी नैना एक बारीक सी पिन सिमरन की बॉडी में इंजेक्ट कर देती है , सिमरन को थोड़ा सा अजीब लगता है लेकिन कुछ ही पलों में वो नॉर्मल हो जाती है , और घर के काम में लग जाती है इधर नैना भी उसके बताये हर एक कमांड को बराबर फॉलो करती हुयी सिमरन के साथ साथ काम में लग जाती है शाम को जब राजवीर घर आता है तो बहुत खुश होता है और बीवी को बाहों में उठा कर सीधा पलंग पर ले जाकर पटक देता है और अपने कपडे उतारने लगता है तभी सिमरन कहती है रुको न वो आजायेगी राजवीर कहता है कौन आजायेगी तभी नैना किचन से चाय लेकर आजाती है , नैना को सामने देखकर राजवीर हक्का बक्का रह जाता है , वो सिमरन से पूछता है ये तुम्हे कहाँ मिल गयी , सिमरन कहती है गोदाम में जहां तुम इस बेचारी मशीन को बंद करके चले गए थे , मैं अकेली घर में बोर होती रहती हूँ अब ये ही मेरी बेस्ट फ्रेंड है , राजवीर कुछ कह पाता तभी नैना पलट कर वापस किचन में चली गयी, राजवीर चुपके से सिमरन के कान में कहता है डार्लिंग ऑफिस के फ्रेंड्स ने हम दोनों के लिए हनीमून पैकेज बुक करवाया है शिमला में नेक्स्ट संडे को हम शिमला जाएंगे सिमरन कहती है वैरी नाइस डिनर के बाद राजवीर बैडरूम में सिमरन के साथ गुत्थम गुत्थी में लग जाता है , इधर नैना खुद को चार्जिंग पॉइंट में सेट करके बैटरी चार्ज करने में लग जाती है ,

chapter 2

अभी चौबे जी ने व्हिस्की का पैग ख़त्म भी नहीं किया था की अर्दली नया पैग बनाकर रख देता है , चौबे जी गजेंद्र सिंह से

कहते हैं सिंह साहेब शराब बहुत हो गयी है आज सिंह साहेब कहते हैं साहेब अगर आप ऐसी बात करेंगे तो फिर हमारा क्या होगा , एक पैग प्लीज़ हमारे लिए चौबे जी ओके सिंह साहेब बोलकर कुछ सोचने लग जाते हैं फिर अचानक बोल पड़ते हैं , जब से ये साला ए आई आया है , सबकी नाक में दम करके रखा हुआ है किसी की आवाज़ में कोई भी फोन कर देता है और इमरजेंसी बताकर पैसे ऐंठ लेता है , साला इसी चक्कर में मेरी सारी ज़िन्दगी भर की कमाई एक झटके में जाते जाते बच गयी तभी गजेंद्र सिंह बोलते हैं बहुत सावधानी से काम करने एक वक़्त आगया है साहेब आप लोग का ज़माना और था जब सारा काम कागज़ में होता था अब तो सब ऑनलाइन है , कौन फोन कर रहा है सामने कौन बैठा है कुछ समझ में ही नहीं आता है , अभी तो बस नौकरी बचाओ की लगी है इस हफ्ते केस के सिलसिले में शिमला जाने की प्लानिंग है सोच रहा हूँ आप भी साथ चलते तो मज़ा आजाता बोलिये तो आपके लिए होटल में रूम बुक करवा दूँ , चौबे जी बोलते हैं ठण्ड तो बहुत है लेकिन ठंडी में मौज मस्ती का अपना ही मज़ा है , सिंह साहेब कहते हैं तो ठीक है नेक्स्ट संडे को तैयार रहिएगा हम शिमला रवाना होंगे , ओके सिंह साहेब बोलते हुए चौबे जी अपने रूम में जाकर सो जाते हैं और दुसरे दिन अपने घर को निकल जाते हैं , और नेक्स्ट संडे चौबे जी और सिंह साहेब शिमला के लिए रवाना होते हैं , मगर सिमरन ज़िद में अड़ जाती है की नैना भी उनके साथ शिमला चलेगी , राजवीर को अब नैना में कोई इंट्रेस्ट नहीं था मगर न चाहते हुए भी उसे नैना को साथ में ले जाना पड़ता है , और जिस जगह वो रुकते हैं चौबे जी भी वहीँ रुकते हैं , नेक्स्ट मॉर्निंग चौबे जी की नज़र राजवीर के साथ नैना पर पड़ती है , चौबे जी सोचते हैं काफी लकी आदमी है हो सकता है बीवी के साथ साली को भी लेके आया हो हनीमून में , खैर बात आई गयी हो जाती है , दोपहर में लंच के समय चौबे जी और राजवीर की एक बार फिर से मुलाक़ात होती है , और ये पहचान कब दोस्ती में बदल जाती है पता भी नहीं चलता है , शाम को सिंह साहेब को केस के सिलसिले में बाहर जाना था उन्होंने चौबी जो को पहले ही बता दिया था हो सकता है की रात को मैं वापस न आऊँ आप आराम से रहिएगा , शाम को पार्टी सुरु होती है राजवीर सिमरन और नैना के साथ फॅमिली बार में बैठे थे , जहां चौबे जी पहले से ही मौजूद थे , उनकी नज़र बार बार बार नैना पर जा रही थी क्यों की उसने वेस्टर्न ड्रेस पहनी थी और उसकी स्किन अलग ही ग्लो मार रही थी। राजवीर चौबे जी की नज़र समझ सकता था , थोड़ी देर बाद नैना और सिमरन वहाँ से चले जाते हैं , तभी मौका पाकर चौबे जी राजवीर से पूछ लेते हैं एक तो आपकी बीवी है साथ में दूसरी मोहतरमा कौन हैं , राजवीर कहता है फ्रेंड हैं चौबे जी का नैना के प्रति लगाव देखकर राजवीर समझ जाता है , कुछ ही देर में मीटिंग ख़त्म हो जाती है , राजवीर और चौबे जी अपने अपने रूम में चले जाते हैं ,

cut to ,

इधर राजवीर सिमरन के साथ बेड रूम में घुस जाता है , उधर नैना चार्जिंग पॉइंट पर बैठी , अपनी बैटरी चार्ज करने में लग जाती है , तभी उसकी नज़र बालकनी पर चहल कदमी कर रहे चौबे जी पर पड़ती है , वो बार बार उसी की तरफ देखे जा रहे थे नैना समझ जाती है , वो फ़ौरन अपने आपको चार्जिंग पॉइंट से अलग करती है , दूसरे ही पल वो चौबे जी के सामने खड़ी होती है , चौबे जी बहुत खुश होते हैं उनके ख़्वाबों की परी उनके सामने थी , उसे अपनी बाहों में भरने की कोशिश करते हैं , तभी सिमरन अपने असली रोबोटिक रूप में आजाती है अब वो सिर्फ एक मशीन थी , चौबे जी कुछ समझ पाते तभी वो अपना हाँथ चौबे जी के सर पर रखती है और मस्तिष्क का सारा डाटा अपनी हार्ड डिस्क में फीड कर लेती है , और कुछ ही सेकंड में अत्यधिक हीट की वजह से चौबे जी का शरीर पसीने से तर बतर हो जाता है , और मस्तिष्क फट कर तरबूजे की तरह फर्श पर फ़ैल जाता है , इसी के साथ नैना वापस जाकर अपने चार्जिंग पॉइंट पर सेट हो जाती है , सुबह होटल में हल्ला मच जाता है , की होटल में किसी का खून हुआ है , इधर सिंह साहेब भी फ़ौरन वापस आ जाते हैं , होटल सीज़ कर दिया जाता है , हर तरफ अफरा तफरी का माहौल बन जाता है , सभी से पूछ तांछ की जाती है , सी सी टी वी फुटेज भी देखा जाता है , ऐसा कुछ ख़ास सुराग पुलिस के हाँथ नहीं लगता है जिससे इस बात की पुष्टि की जा सके की चौबे जी को किसने इतनी बेरहमी से क़त्ल किया , लेकिन अचानक नैना का गायब होना इस बात की ओर इंगित करता है की हो न हो नैना का मर्डर में हाँथ है , राजवीर से भी पूछ ताछ की जाती है , राजवीर को कस्टडी में ले लिया जाता है , राजवीर नैना के बारे में अभी जानकारी देना सुरु ही किया था , की न्यूज़ चैनल पर एक न्यूज़ चलती है , देश के सभी नेताओ और सर्वोच्च अधिकारियों का बैंक खाता हैक किया जा चुका है , तभी ए सी पी गजेंद्र सिंह के मोबाइल पर एक वरिष्ठ मंत्री का फोन आता है , सबके बैंक अकॉउंट की जानकारी कैसे लीक हुयी सबके सब लम्बे से जायेगे , कुछ करो डैम इट, यस सर बोल कर गजेंद्र सिंह चुप हो जाते हैं , नैना की जानकारी पाते ही साइबर सेल वाले वहाँ पहुंच जाते हैं , होटल में ए आई रोबोट की जानकारी मिलते ही सेंट्रल अथॉरिटी ऑफ़ साइबर क्राइम की टीम भी वहां पहुंच जाती है , वो नैना को ढूढ़ने में लग जाती है , सेंट्रल से फ़ोर्स मगवा ली जाती है क्यूंकि खतरा अब सिर्फ बैंक अकॉउंट का नहीं था , देश की सुरक्षा व्यवस्था खतरे में पड़ चुकी थी , लगभग सारा का सारा सिस्टम हैक हो चुका था , बड़ी मसक्क्त के बाद श्रीनगर हवाई अड्डे में एक रोबोट के होने की आशंका बताई जाती है , सीरियल कोड चेक करने पर यह नैना ही थी जो की अब पूरी तरह से अपना रूप चेंज करके रोबोट बन चुकी थी , तभी मिलिट्री कमांडो के द्वारा नैना को चारों तरफ से घेर लिया जाता है , वो नैना को चेतावनी देते हैं , अपने आपको को हमारे हवाले कर दो तुम्हे चारों तरफ से घेर लिया गया है , तभी नैना कहती है फ,, ऑफ़ मैन बचकानी बातें करना बंद करो ,

horror stories to read online,

तुम जिस फ़ोर्स को मेरे खिलाफ लेकर खड़े हो वो वो फ़ोर्स खुद भी मशीन है , क्यों की फोर्स में मुर्दों को मशीन के माध्यम

से ऑपरेट करके चलाया जा रहा था , वो पूर्णतः ह्यूमन नहीं थी , वो ह्यूमन बॉडी में मशीन थी , तभी पलक झपकते ही नैना के इशारे में सारी की सारी फ़ोर्स इंसानी सिपाहियों पर ताबड़तोड़ गोली चलाना सुरु कर देते हैं , सभी वहां से भागना सुरु कर देते हैं , केंद्र सरकार विश्व के ए आई मुख्यालय से आपातकालीन सहायता मांगती है , वर्ल्ड ए आई मुख्यालय विश्व शांति के नाम पर एक लम्बे सौदे की बात करता है उसके ऐवज में वो वो उनकी मदद करने के लिए तैयार हो जाता है , और अपने सैटेलाइट से नैना का कनेक्शन काटने के लिए तैयार हो जाता है , और कनेक्शन कट होते ही नैना की परफॉर्मेंस धीमी होने लगती है , और ह्यूमन फ़ोर्स मैकेनिकल फ़ोर्स पर भारी पड़ने लग जाती है , क्यों की सारे मैकेनिकल फ़ोर्स की कमांड अब नैना के हाथ में थी , और कुछ ही पल में सारे के सारे ह्यूमन रोबोट्स वही पर ढेर हो जाते हैं। और ह्यूमन फ़ोर्स के द्वारा एक एक ह्यूमन रोबोट्स को चुन चुन कर डिस्ट्रॉय किया जाता है , और समंदर की अनंत गहराइयों में हमेशा हमेशा के लिए दफना दिया जाता है ।

first part of this story is here 

next part of this story 

story continue ……

pics taken by google ,