love triangle a short violent love story

0
1803
love triangle a short violent love story
love triangle a short violent love story

love triangle a short violent love story

जुलाई का महीना कॉलेज में नया अड्मिशन , क्लास की खिड़की से लॉन को ताकती एक नज़र सामने से तभी एक लड़की

की एंट्री होती है और खिड़की से झांकती नज़र जो की अपने हीरो की है उसे प्यार हो जाता है , उसे लगता है की ये लड़की

बस उसी के लिए ही बनी है वह उसके रूप के लावण्य में मंत्रमुग्ध हो जाता है , फिर काहे की पढ़ाई काहे की लिखाई सब

छोड़ छाड़ कर वह हर हाल में सोनिया को पाना चाहता है ।

 

अपना हीरो फुल टू शाहरुख़ का जबराफैन है वो शाहरुख़ की हर फिल्म देखता है वो अपनी लाइफ में डर जैसी की एडवेंचर्स

स्टोरी बनाने की फिराक में हमेशा लगा रहता है , मगर क्या करे लड़के थोड़ा हैंडसम होना मतलब लड़की का उस पर मर

मिटना और इसके साथ ही हीरो के इंट्रेस्ट ख़त्म हो जाता था ,

खैर दिन गुज़रते गए हीरो के दिल में सोनिया के लिए मोहब्बत की आग दिन प्रतिदिन प्रकांड रूप धारण कर रही थी ,

वो कहते हैं किसी चीज़ को दिलसे चाहो तो सारी क़ायनात उसे आपसे मिलाने की जद्दोज़हद में लग जाती है , और हुआ

भी यूँ ही आखिर एक मौका आ ही गया , जब अपना हीरो सोनिया के सामने अपने आपको को इंट्रोडूज कराने पंहुचा ,

मगर सीन कुछ और ही बन गया सोनिया का पहले से ही एक बॉयफ्रेंड था , सोनिया के बॉयफ्रेंड को अपने हीरो की

दखलंदाज़ी कतई बर्दास्त नहीं हुयी , उसने उतनी समय तो कुछ नहीं किया मगर दूसरे दिन सीधा कॉलेज आ धमका

अपनी चांडाल चौकड़ी लेकर इधर अपने फट्टू हीरो की सिट्टीपिट्टी गुल वो इन सांड जैसे हट्टे कट्टे मुस्टंडों को देखकर डर गया

, मगर उसने हिम्मत नहीं हारी और वो उनके सामने गया सबने उसका मजाक उड़ाया और सोनिया के बॉयफ्रेंड को बोलै

ये तो बच्चा है बे किसके लिए हमें बुला के ले आया है शर्म नहीं आती , और हँसते हुए चले गए इधर हीरो की जान में

जान आई चलो सर से बला तो टली।

jadui kahani,

मगर इश्क़ की आग होता ही ऐसी चीज़ है की लगाए न लगे और बुझाये न बुझे , अब सोनिया भी जब हीरो से मिलती

हेलो डीयर करके बात करती हीरो के दिल के अरमान इतने जोखिम के बाद भी शांत होने का नाम नहीं ले रहे थे ,

 

इधर हर रोज़ सोनिया से हाय हैल्लो होती उधर हीरो ने सोनिया के घर के चक्कर काटने सुरु कर दिए , सोनिया का

कॉलेज आना जाना बंद हो गया उसने किसी और शहर में एड्मिशन ले लिया था , हीरो को बड़ा गुस्सा आया

फिर हुआ यूँ की उसके घर के चक्कर काट ते समय सोनिया के पिता ने हीरो को रोक लिया उससे पूछा क्या बात है दिन

भर घर के चक्कर काटते हो कोई बात हो तो कहो हीरो ने मना कर दिया कोई बात नहीं , और वो वहाँ से चला गया , और

उसी राह पर एक दिन सोनिया मिल गयी उसने हीरो से उसका नाम पूछ लिया ये बात हीरो को नागवारा गुज़री जिसके में

वो अपनी जान ज़ोखिम में डालकर इश्क़ फरमा रहा है वो उसका नाम तक नहीं जानती वाह क्या बात है सोनिया ने ये

तक कह दिया की उसका माचोमैन लवर अगर हीरो को कुछ बोले तो वो डायरेक्ट सोनिया को बताये उससे डरने की कोई

ज़रुरत नहीं हीरो अपना मन मसोस कर वहाँ से चला गया i

फिर हुआ एक दिन यूँ की सोनिया के बॉयफ्रेंड को हीरो द्वारा सोनिया के घर के चक्कर काटने की बात पता चली वो हीरो

को ढूढ़ता हीरो के मोहल्ले जा पंहुचा मगर अफसोश हीरो उससे नहीं मिला सोनिया का बॉयफ्रेंड और भड़क गया , इधर

अपना हीरो भी कम कहाँ था ,

 

उसने सोनिया के बॉयफ्रेंड से टक्कर लेने का प्लान बनाया , वो सीधा सोनिया के घर गया सोनिया उससे मिली बोली

उसके बॉयफ्रेंड से डरने की कोई ज़रुरत नहीं मैं हूँ न बार बार सोनिया का उसके बॉयफ्रेंड का धौंस दिखाना अपने हीरो को

पसंद नहीं आया उसने बोला तुम्हारे बॉयफ्रेंड जैसे सैकड़ों घूमते हैं तुम्हारा बॉयफ्रेंड कहीं लग्गे से नहीं लगता ये बात

सुनकर सोनिया कसमसा के रह गयी और अपना हीरो उठ के चलता बना , उसे इस बात का अंदेसा था की अब कुछ बड़ा

हंगामा होने वाला है हीरो का कॉलेज आना जाना बंद उसकी सोनिया के बॉयफ्रेंड ने चारों तरफ से फील्डिंग सेट कर रखी

थी , खैर हारे दांव हीरो को एक दिन कॉलेज जाना ही पड़ा , और पहला पीरियड ख़त्म हुआ ही था की सोनिया के बॉयफ्रेंड

की फिर उसी लॉन वाली जगह पर एंट्री हुयी , सबके सामने उसने हीरो को बुलाया इधर आ और अपने साथ बाहर चलने

को कहा हीरो को लगा आज उसकी जमकर धुलाई होने वाली है , वो उसके साथ बाहर गया वहाँ दो तीन बोलेरो भर के

लड़के हॉकी रॉड के साथ हीरो की पिटाई करने के लिए तैयार खड़े थे सबने हीरो को धमकाया चमकाया हीरो सोनिया के

बॉयफ्रेंड को बोला यार गलत समझ रहा है तू समझने की कोशिश कर मैंने ऐसा कुछ नहीं किया जो तू समझ रहा है ,

 

जैसे ही सोनिया का बॉयफ्रेंड हीरो को मारने  ही वाला था की सोनिया ने आगे बढ़कर अपने बॉयफ्रेंड का हाँथ पकड़ लिया

बोला चल छोड़ जाने दे , और हीरो को वहाँ से भगा दिया गया हीरो चुपचाप वहाँ से चला गया , मगर सोनिया द्वारा उसे

बचाना कम्बख्त इश्क़ की आग कम होने ही नहीं दे रहा था ,

 

हीरो में आक्रोश जागृत हो रहा था वो हर हाल में अपने अपमान का बदला लेने के लिए आतुर था , दिन था एक जनवरी

२००० का सुबह के आठ बजे हीरो अपनी हीरो पुक से कहीं जा रहा था सामने सोनिया का बॉयफ्रेंड बोलेरो से आ रहा था

उसने हीरो को हल्का सा कट मारा हीरो की गाड़ी रोड से उतर गयी , हीरो मुड़ के देखा और अपने दोस्त से बोला यार ये

इसने कट मारा है न कट मारना कानून की नज़र में दण्डनीय अपराध है , वो सीधा सोनिया के घर गया ठंडी का जमकर

मौसम था उसकी फैमली गार्डन में धूप सेंक रही थी , हीरो की एंट्री होती है वो सीधा सोनिया से मिलता है बोलता है

तुम्हारे बॉयफ्रेंड ने तो कट मार दिया अब वो उसके खिलाफ ऍफ़ आई आर डलवाएगा , सोनिया के परिवार वाले डर गए वो

बोले उनका उसके बॉयफ्रैंड्स कोई ताल्लुक नहीं है सोनिया ने भी कह दिया तुम्हे जो करना है करो I

 

फिर क्या था हीरो पुलिस स्टेशन गया वहाँ कम्प्लेंट डाली , वहीँ उसकी पहचान का एक पुलिस वाला मिल गया उसे हीरो

ने उसे घटनाक्रम की जानकारी दी , शाम को वो हीरो के साथ सोनिया के बॉयफ्रेंड को उसके इलाके में ढूढ़ा मगर उसका

कोई रता पता नहीं चला और वो हीरो को बोला तुम जाओ मैं देख लूँगा , वहाँ से हीरो थोड़ा निरास हुआ और घर चला आया ,

 

ठीक चार दिन हीरो का एक फ्रेंड उसके पास आया बोला तुझे सोनिया के बॉयफ्रेंड ने बुलाया है पुलिस उसको १ जनवरी को

उठा के ले गयी थी खूब मारी अब वो तुझसे कोम्प्रोमाईज़ करना चाहता है , ये बात सुनते ही हीरो की ख़ुशी का ठिकाना न

रहा वो अपने  दो और दोस्त के साथ हीरो हौंडा सी डी १०० एस एस से तीन लोग सोनिया के बॉय फ्रेंड के इलाके में पहुंचे

गाड़ी खड़ी की हीरो ने सोनिया बॉयफ्रेंड को बुलाया उसी अंदाज़ में जैसे सोनिया का बॉयफ्रेंड हीरो को कॉलेज में बुलाया था

, सोनिया का बॉयफ्रेंड आगे बढ़ा ही था की सोनिया ने उसे रोक दिया

 

वो बोली हीरो खुद आये उससे मिलने हीरो गया उनके पास बोला यार तुमने कट मार दिया था १ तारीख को उसपर

सोनिया के बॉयफ्रेंड ने बोला तो तुमने रिपोर्ट डलवा दी पुलिस रात भर चड्ढी बनियान पहना के रखी थी और पिटाई की

सोनिया ने बोला यहां भाई बोलते हो और रात भर पिटवाते हो उसके बॉयफ्रेंड को हीरो का भेजा यहीं आउट हुआ तभी

सोनिया ने बोला साले बहुत उड़ रहा है तू तुझे चाहूँ तो मैं कटवा के फेंक दूँ अपना हीरो थोड़ा रिलैक्स हुआ उसके दिल को

ठंडक मिली सोनिया की अश्क़ों से भरी आँखों में आखें डालकर उसने कहा तुम तो जो भी करो बहुत कम है ।

 

और अपने दोस्त को बोला चल गाड़ी स्टार्ट कर और वहां से नौ दो ग्यारह हो गया , इस घटना के ६ महीने बाद उसने

सोनिया नाम की दूसरी गर्लफ्रेंड बनाई और पहली वाली सोनिया के घर के सामने से गुज़रा जिसे सोनिया ने भी देखा

सोनिया की जली कटी कटी नज़र अपना हीरो देख रहा था उसके दिल को इतनी ठंडक मिली जितनी शायद जेठ की

दोपहरी में कुल्लू मनाली में भी न मिले शायद ।

sad poetry in urdu 2 lines 

pix taken by google