गर्द चेहरों से क़िरदार निकाल लेता हूँ quotes life hindi ,

0
521
गर्द चेहरों से क़िरदार निकाल लेता हूँ quotes life hindi ,
गर्द चेहरों से क़िरदार निकाल लेता हूँ quotes life hindi ,

गर्द चेहरों से क़िरदार निकाल लेता हूँ quotes life hindi ,

गर्द चेहरों से क़िरदार निकाल लेता हूँ ,

जब लिखता नहीं हूँ तब क़िताब ए वर्क़ से लिहाफ़ उतार देता हूँ

 

 ज़ब्त रखा है सीने में ज़माने से तेरा नाम मैंने ,
सोचता हूँ दिल के दरिया में अब किसी और सफ़ीने को साहिल दूंगा ।

 

तालीम ए इश्क़ ही ज़रूरी था अगर जीने के लिए ,

फिर कोर्चा रुपयों का क्यों किया जाता है मरने के लिए ।

patriotic poetry

ना पूछ बिछड़ के तुझसे तेरे ग़ालिब का हाल कैसा है ,

कुछ एक टुकड़े बचे हैं मिसरा के बाकी सुखनवर का हाल पहले जैसा है ।

 

बदल रहे हैं जहाँ भर के नज़ारे पल पल ,

तू किस गगन में छुपा बैठा है दिलों से अटखेली कर के ।

 

तू साथ हो ना हो ,

तेरे इश्क़ का एहसास मेरे साथ होता है पल पल ।

 

हाल ए दिल को मरम्मत की दरकार है ,

इश्क़ ए ख़ुदा तू जाने या रामजाने की ये प्यार है ।

 

तेरे ज़ख्मों का एहसास है मुझको ,

तुझको कितना तल्ख़ तल्ख़ लगता होगा माघ पूस की ठण्ड में जब बेलिबास तन पर ठण्डा ठण्डा बर्फ़ पड़ता होगा

 

भड़क जाता है छोटी बातों से ,

तेरा दिल तुझसे बड़ा दंगाई नज़र आता है ।

 

इन दर्द के छालों को नासूर न समझ ,

ये दाग़ ए इश्क़ ही सही ग़म ए क़ुर्बत में जी लेंगे हम

 

कम बेसी भी हो जाता अगर ,

माल उठने से पहले दर्द ए दिल का ख़रीददार मिल जाता अगर ।

 

ग़म के बादल हैं हट ही जायेंगे ,

रात के पहलू से सवेरा छट के निखरेगा ।

 

एक मसर्रत ही रास ना आई ,

ग़म ए मुफ़लिस का ये  फ़साना है ।

 

नाम तेरा था बहुत आशिक़ों के शहर में ,

इश्क़ करके मैं ख़्वामख़्वाह बर्बाद हो गया ।

 

राह चलते नैन मटक्का फ़ितरत में ना था हमारी ,

कोई ग़र दिल से लगा ले गुस्ताखी नज़र की तो खता है ये तुम्हारी ।

story for kids in hindi,

नज़रो ने छेड़ी जंग कोई ज़ार ज़ार था ,

कोई दिल पर लिया था घाव कोई इश्क़ का बीमार था

pix taken by google