रोती है रात तन्हा जब चाँद होता है अकेला sad shayari,

0
1160
रोती है रात तन्हा जब चाँद होता है अकेला sad shayari,
रोती है रात तन्हा जब चाँद होता है अकेला sad shayari,

रोती है रात तन्हा जब चाँद होता है अकेला sad shayari,

रोती है रात तन्हा जब चाँद होता है अकेला ,

भीड़ भाड़ वाले इलाकों में ये घुटन महसूस नहीं होती ।

 

मेरे शहर में मुशाफिरों की कदर बढ़ गयी ,

वो शहर से क्या गुज़रे नए मुशाफ़िरख़ाने खुल गए ।

ghost story in hindi for child

यूँ ही जब तेरी याद आती है ,

तुझको भला बुरा बोल के दिल को तसल्ली दे लेता हूँ ।

 

रोने से क्या होगा फ़ायदा सोचता हूँ ,

फिर तकिये में मुँह छुपा के सुबक लेता हूँ ।

 

कभी तेरी बातों से गुल खिलते थे रातों को ,

अब तेरी यादों से रातों को गुलज़ार करता हूँ ।

 

मैं तुझको याद करता हूँ अब भी ,

तू मुझको भूल जा शायद ।

 

वो चादर वो बिछौने वो परदे वो दरीचे ,

अभी भी आती है खुश्बू उनसे जो कभी तूने छुए होंगे ।

 

बगीचे में उगे पौधे की टहनियों ,

पत्तों से फूलों से आती है तेरी ख़ुश्बू

 

भिगोने में तेरी याद निचोकर ,

बन्जर ज़मीन को सींचे होंगे ।

 

दिल धड़कता है मेरा जब भी तेरा नाम सुनता हूँ ,

कौन कहता है मुर्दा घरों में दिलों के धड़कने की आहटें महसूस नहीं होती।

 

रोड साइड रोमियो की मोहब्बत क्या मोहब्बत नहीं होती ,

माना की कुछ अब्वल दर्ज़े के वादे नहीं होते ,

गोया विसाल ए यार से टूटी फूटी ज़रूरतें नहीं होती ।

 

मर जाते कब का तन्हाइयों के अँधेरे में शायद ,

एक हमदर्द जला रहा है हर रोज़ दिल थोड़ा थोड़ा ।

 

शीशे से डरेंगे तो इश्क़ ए सियासत क्या करेगे ,

दिल में भरे तूफ़ान जवान कैसे ठण्डी आहें भरेंगे ।

 

तहज़ीब महफूज़ रखेगे हमारे नौ निहाल ,

फ़िज़ा में फैली खुश्बू ए इल्म से चमन गुलज़ार होता जायेगा ।

 

खुद के आब ओ दाना का जुगाड़ करते करते ,

अक्सर आदमख़ोर सियासी दूसरों का घरौंदा लूट लेते हैं ।

funny shayari , 

घरों में फेकते हैं पत्थर वही जो अक्सर खानाबदोश हुआ करते हैं ।

 

मर गए खून का रंग सुफेद कहने वाले ,

माली जब लहू से सींचता है गोया चमन गुल ए गुलज़ार होता है ।

 

pix taken by google