गगन को चूमते तरुवरों पर लिपटी अमर बेलें alfaaz shayari ,

गगन को चूमते तरुवरों पर लिपटी अमर बेलें alfaaz shayari ,

0
1762
whatsapp status funny,
गगन को चूमते तरुवरों पर लिपटी अमर बेलें alfaaz shayari ,

गगन को चूमते तरुवरों पर लिपटी अमर बेलें alfaaz shayari,

गगन को चूमते तरुवरों पर लिपटी अमर बेलें ,

सूर्य की प्रथम किरणे जड़ों तक प्रसस्थ करने में बाधक हैं ।

 

उद्वेलित मन जैसे भंवर के बीच फंसी उठती लहरें ,

कुछ चंद शिलाखण्डों से छणभंगुर सी हो जाती हैं ।

 

आजकल हिचकियाँ बहुत आती हैं ग़ालिब,

हो न हो उनके तसब्वुर में भी मेरा ख़्याल होता है ।

 

भवरों सा गुनगुनाता गुलों पर ,

तितलियों सा कलियों में रंग भरता मन ।

horror story in hindi language 

चराग ए लौ संग अरमान रखे थे इसी ठौर कहीं ,

ग़म ए गर्दिश में पिघली मोम का ठिकाना नहीं मिला ।

 

कैसे कैसे दरियाओं से गुज़री है किश्ती ,

अब के रेत् के साहिलों पर मायूस खड़ी है हस्ती

 

उम्र ए दराज़ और नाज़नीन ए नुख़्ताचीनी हरसू ,

तरास ए मुजस्सिम भी मुआइने का एक पहलू है ।

 

कैसे कैसे फ़लसफ़े उधेड़ रखे हैं रात के दरीचे में ,

एक पल की नज़र आइना ए अक़्स से,

हट जाए तो क़त्ल ए आम मच जाए ।

 

दाग़ दामन के दिखा दिखा के लोग,

पाक़ीज़ा ए मोहब्बत पर कैसे कैसे इल्ज़ाम लगा देते हैं ।

 

अब तो आइना भी बेनक़ाब हुआ जाता है ,

रोज़ कहता है मुझसे मेरी सूरत सवार लूँ ।

romantic shayari 

सहूलियत ए वक़्त कदमो में आती है ,

एक तज़ुर्बा ए उम्र के बाद ।

 

ये नफ़ासत यूँ ही नहीं निख़र जाती है ,

चंद कदमो से तय किये चंद कदमो के फासले तक ।

 

बुत परस्तिश में ग़र ख़ुदा मिलता ,

पत्थरों से जुदा मिलता ।

 

ज़िन्दगी मौत सजा की खातिर ,

दुआ में नाम बचा किसकी रज़ा की खातिर ।

 

उल्फत ए आईन की किताबों का मुब्तला करके ,

ग़म ए तन्हाईयाँ ही हाँथ लगी हैं वफ़ा करके ।

 

सेहराओं से जब भी जमाल ए यार का कारवां गुज़रा ,

आशिक़ों में चर्चा आम हुयी इधर के बाद फिर कहाँ गुज़रा

 

कहाँ से लाता है वो हर रोज़ नए रंग नए ढंग के तेवर ,

अब से पहले दीवानो में कोई रुतबा तो न था उसका ।

pix taken by google

Download Premium WordPress Themes Free
Free Download WordPress Themes
Download Premium WordPress Themes Free
Download Nulled WordPress Themes
udemy free download
download lenevo firmware
Premium WordPress Themes Download
free online course

NO COMMENTS